Unnao Rape Case: पीड़िता व वकील की सुरक्षा शिफ्ट में किया गया भारी बदलाव

डीएन ब्यूरो

उन्नाव रेप की पीड़ि‍ता का दुर्घटना के बाद से लखनऊ के ट्रामा सेंटर में इलाज चल रहा है। आज मामले की सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई भी हुई जिसके बाद से सुरक्षा का जिम्‍मा CRPF को दे दिया गया है। अब सुरक्षा चक्र को और मजबूत करने के लिए शिफ्टों में भी खास बदलाव किए गए हैं। डाइनामाइट न्‍यूज़ पर पढ़ें पूरी खबर..


लखनऊ: उन्नाव रेप पीड़िता व वकील के साथ हुए हादसे के बाद से दोनों का इलाज यूपी की राजधानी लखनऊ के KGMU में चल रहा है। अभी तक उनकी सुरक्षा में पुलिस ही तैनात थी लेकिन आज सुप्रीम कोर्ट ने दखल देते हुए सुरक्षा को बढ़वाकर CRPF को सौंपे जाने को कहा था। जिसके बाद से CRPF ने सुरक्षा का जिम्‍मा संभाल लिया। अब सुरक्षा चक्र को अधिक मजबूत करने के लिए इसे तीन शिफ्टों में बांट दिया गया है। 

यह भी पढ़ें: ‘डाइनामाइट न्यूज़ यूपीएससी कॉन्क्लेव 2019’: आईएएस परीक्षा से जुड़ा सबसे बड़ा महाकुंभ

सुप्रीम कोर्ट में उन्‍नाव केस और दुर्घटना से जुड़े मामले पहुंचने के बाद से ही सभी कार्यों में तेजी आ गई है। 2017 से चल रहा मामले में CBI ने भी अचानक तेजी दिखाई। वहीं सुरक्षा व्‍यवस्‍था को भी बदला गया। 

यह भी पढ़ें: मामूली सी बात पर दबंगो ने पति पत्नी को मारी गोली, दोनों की हालत गंभीर

आज सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद उत्‍तर प्रदेश की पुलिस को हटाकर CRPF को लगाया गया। सीआरपीएफ ने दोपहर में केजीएमयू के ट्रामा सेंटर पहुंचकर मौके पर सुरक्षाा व्‍यवस्‍था का जिम्‍मा संभाल लिया था। जिसके बाद से ही सीआरपीएफ ने सुरक्षा घेरे को मजबूत करने के लिए तीन शिफ्टों में निगरानी करेंगे।  

तीन दिन में दूसरी बार घटनास्थल पर पहुंची CBI टीम

सीबीआई की ओर से बताया गया कि मामले की जांच जल्दी पूरी करने के लिए 20 अधिकारियों की एक स्पेशल टीम भी बनाई गई है। सुप्रीम कोर्ट की डेडलाइन को देखते हुए आज दूसरे दिन भी घटना स्‍थल की जांच करने CBI टीम पहुंची हुई थी। 

मध्‍यप्रदेश CM कमलनाथ ने दिखाई हमदर्दी

मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ ने उन्नाव रेप केस की पीड़िता से हमदर्दी जताई है। उन्‍होंने ट्वीटर पर लिखा कि पीड़िता अपने परिवार के साथ मध्य प्रदेश में आकर रहे। उनके रहने, खाने, सुप्रीम कोर्ट में केस की सुनवाई के लिए दिल्ली आने जाने का इंतजाम मध्य प्रदेश सरकार करेगी।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार