Unnao Rape Case: सीबीआई की जांच तय करेगी साजिश या दुर्घटना, रायबरेली पहुंची CBI टीम

डीएन ब्यूरो

उन्‍नाव रेप पीड़िता के परिवारीजनों की मांग पर सीबीआई ने बुधवार को FIR दर्ज की और एजेंसी की टीम रायबरेली में दुर्घटना वाले स्‍थान पर जांच के लिए पहुंची। अब CBI की जांच ही तय करेगी कि यह दुर्घटना थी या साजिश। डाइनामाइट न्‍यूज़ पर पढ़ें पूरी खबर..

दुर्घटना स्‍थल पर जांच के लिए पहुंची सीबीआई टीम
दुर्घटना स्‍थल पर जांच के लिए पहुंची सीबीआई टीम

लखनऊ: उन्‍नाव रेप पीड़िता के एक्‍सीडेंट के मामले में FIR दर्ज करने के बाद CBI पूरी तरह ऐक्‍शन में आ गई है। एजेंसी की तीन सदस्‍यीय टीम बुधवार को रायबरेली में घटनास्‍थल पर पहुंची। जहां एक ट्रक ने जेल में बंद चाचा से मिलकर वापस जा रही पीड़िता की कार में टक्‍कर मार दी थी। जिसमें पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई थी और वकील सहित अन्‍य घायल हो गए थे। 

यह भी पढ़ें: पीड़िता के चाचा को हाईकोर्ट से मिली एक दिन की शार्ट टर्म बेल

चौतरफा विरोध के बाद राज्य सरकार की सिफारिश के बाद सीबीआई ने पूर्व भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उसके भाई समेत 10 लोगों के खिलाफ नामजद और 20 अन्य अज्ञात पर हत्या, हत्या का प्रयास, आपराधिक साजिश की धाराओं में केस दर्ज किया है। यह केस सीबीआई लखनऊ की एंटी करप्शन ब्रांच ने दर्ज किया है।

घटना की पड़ताल के लिए गठित SIT टीम भी इस दौरान मौजूद रही। एडिशनल पुलिस अधीक्षक शशी शेखर सहित एसआइटी में नामित सीओ भी दुर्घटनास्थल पर सीबीआई टीम के साथ मौजूद रहे। उम्‍मीद जताई जा रही है कि अब CBI परिवारीजनों के बयान दर्ज करेगी। 

यह भी पढ़ें: उन्‍नाव रेप पीड़िता से मिलने लखनऊ के केजीएमसी ट्रॉमा सेंटर पहुंचे अखिलेश यादव

ज्ञात हो कि CBI द्वारा दर्ज किए गए केस का आधार रायबरेली के गुरुबख्‍शगंज थाने में दर्ज किया गया मामला ही है। रायबरेली में यह मामला पीड़ित किशोरी की तहरीर पर दर्ज किया गया था। रायबरेली में दर्ज मामले में भी विधायक समेत 10 को नामजद किया गया था और 20 अन्‍य पर मुकदमा दर्ज किया गया था लेकिन अब सीबीआई ही इस मामले की सच्चाई पता लगाएगी कि यह एक हादसा था या साजिश।

घटनास्‍थल पर मौजूद सीबीआई टीम

यह भी पढ़ें: भारी सुरक्षा के बीच पीड़िता के चाचा ने किया पत्‍नी का अंतिम संस्‍कार

गौरतलब है कि 28 जुलाई को एक कार दुर्घटना में उन्‍नाव गैंगरेप पीड़िता और एक वकील गंभीर रूप से घायल हो गए थे। वहीं कार में ही सवार पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई थी। पीड़िता का अभी भी केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में इलाज चल रहा है। पीड़िता के परिवार वालों ने दुर्घटना को साजिश बताते हुए रायबरेली में मामला दर्ज कराया था।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …