फतेहपुर: गंगा नदी के उफान से कई गांवों में बाढ़ का खतरा, फसल बर्बाद होने से किसान ने दी जान

डीएन संवाददाता

गंगा नदी के बढ़ते जलस्तर के कारण यहां के कई गांवों में बाढ़ का संकट गहराता जा रहा है। भारी बारिश और बाढ़ के कारण फसल बर्बाद होने के कारण एक किसान ने फांसी लगाकर जान दे दी। डाइनामाइट न्यूज़ की स्पेशल रिपोर्ट

फाइल फोटो
फाइल फोटो

फतेहपुर: भारी बारिश के कारण गंगा नदी का जलस्तर तीसरे दिन भी उफान पर है, जिस कारण कई क्षेत्रों में बाढ़ का संकट गहराता जा रहा है। बाढ़ के कारण किसानों की फसलों को भारी मात्रा में नुकसान पहुंचा है। बारिश और बाढ़ के कारण फसल बर्बाद होने के कारण एक किसान में सोमवार शाम को फांसी लगाकर जान दे दी है।

यह भी पढ़ें: फतेहपुर: अतिक्रमण अभियान के चलते जन्माष्टमी पर बाजारों से रौनक गायब 

गंगा नदी का जलस्तर बढ़ने से भिटौरा ब्लॉक और आसपास के क्षेत्र सबसे ज्यादा प्रभावित हुए है। सेनपुर, फिरोजपुर कटरी आदि गांवों में बाढ़ की आशंका को देखते हुए जिला प्रशासन पूरी तरह सतर्क। हुसैनगंज पुलिस, पीआरवी 100 व राजस्व विभाग की टीम लगातार क्षेत्र की निगरानी करने में जुटी हुई है।

यह भी पढ़ें: फतेहपुर: क्राइम मीटिंग में गरजे एसपी राहुल राज.. बोले- महिला उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं

चांदपुर थाना क्षेत्र के परसेढा गांव में भारी बारिश और बाढ़ के कारण फसल चौपट होने से परेशान एक किसान ने फांसी लगाकर जान दे दी है। लगातार बारिश के चलते किसानों की उम्मीद पूरी तरह सूख गयी है।

यह भी पढ़ें: फतेहपुर: डीएम ने किया गांवों का औचक निरीक्षण, अवैध कब्जे हटाने के निर्देश, ग्रामीणों में हड़कंप 

बाढ़ की स्थिति को देखते हुए प्रभावित क्षेत्र के लोग सुरक्षित स्थानों की तलाश कर रहे है। प्रशासन भी पूरी मुस्तैदी के साथ स्थिति पर नजर बनाये हुए है और राहत व बचाव कार्यों समेत हर हालात से निपटने को तैयर है। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …