RBI Guidelines: रेपो दर में 40 आधार अंकों की कटौती , ऋण सस्ते होने की उम्मीद

डीएन ब्यूरो

कोरोना वायरस के बढ़ते संकट के मद्देनजर रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति ने पूंजी की उपलब्धता बढ़ाने और ब्याज दरों में कमी लाने के उद्देश्य से रेपो दर में 40 आधार अंक की कमी करने का निर्णय लिया है।

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास
रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास

नयी दिल्ली: कोरोना वायरस के बढ़ते संकट के मद्देनजर रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति ने पूंजी की उपलब्धता बढ़ाने और ब्याज दरों में कमी लाने के उद्देश्य से रेपो दर में 40 आधार अंक की कमी करने का निर्णय लिया है। कोरोना वायरस के बढ़ते संकट की वजह से समिति की एक विशेष बैठक बुलाई गई और उसमें बहुमत के आधार पर लिये गये निर्णय की जानकारी देते हुये रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने आज संवाददाताओं से कहा कि समिति ने कोरोना वायरस की वजह से देश और दुनिया के हालात की समीक्षा की है।

 

कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित भारतीय अर्थव्यवस्था को गति प्रदान करने में मदद के उद्देश्य से रेपो रेट में 40 आधार अंकों की कटौती की गयी है। अब रिपो दर 4 प्रतिशत हो गयी है। श्री दास ने कहा कि देश में इस बार मानसून, विनिर्माण , कृषि उपज, कच्चे तेल, धातु आदि की आने वाले दिनों में स्थिति पर भी विस्तार से विचार विमर्श किया गया है।

आरबीआई गवर्नर ने बताया कि पिछले तीन दिन में समिति ने कोरोना संकट की वजह से बने घरेलू और वैश्विक माहौल की समीक्षा की।

लॉकडाउन में यह दूसरी बार है जब आरबीआई ने रेपो रेट में कटौती की है। इससे पहले 27 मार्च को रेपो दर में 0.75 फीसदी कटौती की गयी थी। (वार्ता)













संबंधित समाचार