महराजगंज: 22 घंटे बाद भी शहीद जवान पंकज त्रिपाठी के घर नही पहुंचे डीएम और सांसद, आक्रोशित जनता ने की सीएम को बुलाने की मांग

कार्तिकेय पांडेय

गुरुवार की शाम 5 बजे जिले के फरेन्दा इलाके के हरपुर गांव के होनहार सीआरपीएफ जवान पंकज त्रिपाठी के शहीद होने की खबर मिल गयी थी। 22 घंटे बीत जाने के बाद भी जिले के डीएम अमरनाथ उपाध्याय और सत्तारुढ़ पार्टी के सांसद पंकज चौधरी शहीद के घर नही पहुंच हैं। जिसको लेकर आम लोग आक्रोशित हैं। अब ये सीएम को बुलाने की मांग कर रहे हैं। डाइनामाइट न्यूज़ एक्सक्लूसिव..


महराजगंज: क्या जिले के डीएम अमरनाथ उपाध्याय और सत्तारुढ़ पार्टी के सांसद पंकज चौधरी शहीद पंकज त्रिपाठी के दरवाजे पर सांत्वना देने तब पहुंचेंगे जब पार्थिव शरीर घर पहुंच जाएगा? क्या इसके पहले उनको शहीद के घर नही पहुंचना चाहिये? दोनों लोग आखिर अब तक शहीद के घर क्यों नहीं पहुंचे इसको लेकर शहीद के घर पहुंचने वालों में भारी आक्रोश व्याप्त है और अब ये सीएम योगी आदित्यनाथ को यहां बुलाने की मांग कर रहे हैं। 

यह भी पढ़ें :महराजगंज का लाल आतंकी हमले में शहीद, किसी घर में नही जला है चूल्हा, दोस्तों ने ये कहा..

अंतिम संस्कार की तैयारियां

जिले के पुलिस अधीक्षक रोहित सिंह सजवान अब से कुछ मिनटों पहले ही फरेन्दा इलाके के हरपुर गांव के होनहार सीआरपीएफ जवान पंकज त्रिपाठी के पैतृक घर पहुंचे थे।

शहीद के पिता ओम प्रकाश त्रिपाठी से बात करते एसपी रोहित सिंह सजवान

यहां उन्होंने वीर शहीद के माता-पिता, पत्नी और तीन वर्षीय बच्चे से मुलाकात की। 

यह भी पढ़ें: महराजगंज जिले के वीर जवान पंकज त्रिपाठी कश्मीर के आतंकी हमले में हुए शहीद, मातम, मां का बुरा हाल

इसके अलावा प्रशासनिक अधिकारियों के नाम पर तहसीलदार और बीडीओ स्तर के अधिकारियों ने यहां पहुंचे। डाइनामाइट न्यूज़ संवाददाता के मुताबिक अब यहां पर जेसीबी मशीन आदि लगाकर शहीद के घर के आसपास साफ-सफाई करायी जा रही है। 

जेसीबी मशीन से शहीद के घर के आसपास की जा रही है साफ-सफाई

यह भी पढ़ें: कश्मीर आतंकी हमले के बाद यूपी सीएम का बयान आया सामने.. देखिये क्या कहा योगी आदित्यनाथ ने..

अब सभी इंतजार कर रहे हैं कि श्रीनगर से शहीद का पार्थिव शरीर शीघ्र आये और अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया जाये। इधर सीएम योगी आदित्यनाथ ने स्पष्ट कहा है कि वीर शहीदों के अंतिम संस्कार के दौरान राज्य सरकार का एक मंत्री, जनप्रतिनिधि और डीएम व एसपी अनिवार्य तौर पर मौजूद रहेंगे।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …