पद्म पुरस्कार 2019: ट्रांसजेंडर समेत 112 लोग पद्म पुरस्कार से हुए सम्मानित

डीएन ब्यूरो

इस साल कई बड़ी हस्तियों को पद्म पुरस्कार से नवाजा गया। कुल 112 लोगों को पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया। खास बात यह है कि इस पुरस्कार को पाने वालों में एक ट्रांसजेंडर भी है। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट में जानिए इस साल किस-किस को इस पुरस्कार से किया गया सम्मानित..

पद्म पुरस्कार पाने वालों में एक ट्रांसजेंडर भी है
पद्म पुरस्कार पाने वालों में एक ट्रांसजेंडर भी है

नई दिल्ली: इस साल गणतंत्र दिवस के अवसर पर कुल 112 हस्तियों को पद्म पुरस्कार से नवाजा गया है। हर साल की तरह गणतंत्र दिवस के पहली शाम को पद्म पुरस्कारों की घोषणा कर दी गई थी। इस पुरस्कार को पाने वालों में मरहूम अभिनेता कादर खान, स्व. कुलदीप नैय्यर, क्रिकेटर गौतम गंभीर, वरिष्ठ अधिवक्ता एचएस फुल्का, वैज्ञानिक नबी नरायण, पर्वतरोही बछेंद्री पाल और दक्षिण के अभिनेता मोहन लाल सहित कई बड़ी हस्तियां शामिल हैं।

यह भी पढ़ें: जानिए..उन महिलाओं के बारे में जिन्होंने संविधान निर्माण में निभाई अहम भूमिका

पद्म विभूषण पुरस्कार से नवाजी गईं हस्तियां
70वें गणतंत्र दिवस पर इस पुरस्कार को पाने वालों  में 21 महिलाएं, 11 विदेशी और एनआरआई शामिल हैं। इस सूची में तीन मरणोपरांत पुरस्कार प्राप्त करने वाले और एक ट्रांसजेंडर भी शामिल हैं। देश के दूसरे सर्वोच्च सम्मान पद्म विभूषण को लोक कलाकार तीजन बाई, जिबूती के राष्ट्रपति इस्माइल उमर गुएलेह, व्यवसाई अनिल कुमार मनीभाई नाइक और लेखक बलवंत मोरेश्वर ने ग्रहण किया।


पद्म भूषण पुरस्कार से नवाजी गईं हस्तियां
पद्म भूषण अवार्ड से प्रख्यात पत्रकार कुलदीप नैय्यर और नंबी नारायणन समेत 14 लोगों को नवाजा गया। पद्म भूषण अवार्ड के अलावा 94 लोगों को पद्मश्री अवार्ड के लिए चुना गया। पुरस्कार समारोह में अभिनेता मनोज बाजपेयी, फुलबॉलर सुनील क्षेत्री, कोरियोग्राफर प्रभु देवा, सिंगर शंकर महादेवन और पहलवान बजरंग पुनिया को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया।

यह भी पढ़ें: 70वां गणतंत्र दिवस बेहद खास, इस साल परेड में 22 झांकियां हुई शामिल

किन्हें दिए जाते हैं पद्म पुरस्कार
पद्म पुरस्कार देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान में आते हैं। पद्म पुरस्कारों को तीन श्रेणियों में दिया जाता है जिनमें पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्मश्री सम्मान शामिल हैं। यह पुरस्कार अलग-अलग क्षेत्रों में सहरानीय काम करने वालों को दिया जाता है। यह सम्मान कला, सामाजिक कार्य, जन कल्याण, सरकारी क्षेत्र, विज्ञान और इंजीनियरिंग, व्यापार और उद्योग, मेडिसिन, साहित्य, शिक्षा, खेल, सिविल सेवा समेत कई क्षेत्रों में दिये जाते हैं।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

#DNPoll क्या कश्मीर में हुआ आतंकी हमला मोदी सरकार की नाकामी है?