दिवाली पर मोदी ने जवानों से कहीं ये बात, अब दुश्मनों की खैर नहीं ..

डीएन ब्यूरो

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को उत्तराखंड के हर्षिल में तैनात सेना और भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल (आईटीबीपी) के जवानों के साथ दिवाली। इस दौरान मोदी ने जवानों की समस्याएं भी सुनी और उन्होंने जवानों से कुछ ऐसा कहा कि इससे सभी में जोश भर गया। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट में पढ़ें PM ने जवानों में कैसे भरा जोश

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने की  केदारनाथ की पूजा
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने की केदारनाथ की पूजा

देहरादून: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को उत्तराखंड के हर्षिल में तैनात सेना और भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल (आईटीबीपी) के जवानों के साथ दीपावली मनायी। 

मोदी बुधवार सुबह देहरादून पहुंचे। इसके बाद वह उत्तराखंड में भारत-चीन सीमा के नजदीक स्थित हर्षिल स्टेशन पहुंचे। आठ हजार फुट की ऊंचाई पर स्थित सेना के बेस पर सेना प्रमुख और आईटीबीपी के महानिदेशक से मुलाकात करने के बाद उन्होंने जवानों के साथ दीपावली मनाई। महार रेजिमेंट के जवानों के साथ प्रधानमंत्री ने दीपों के इस पर्व पर पहले उनको मिठाई खिलाई और उसके बाद उनके साथ फोटो खिंचवाई।

प्रधानमंत्री ने बर्फीली चोटियों में तैनात भारतीय सेना और आईटीबीपी के जवानों को बधाई देते हुए इन विपरीत जलवायु और भौगौलिक परिस्थतियों में उनकी कर्तव्यपरायणता की सराहनीय है। उन्होंने कहा कि सीमा पर सेना के जवानों के कारण ही देश सशक्त है और लोग सुरक्षित हैं।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने देशवासियों को दीवाली की दी शुभकामनाएं..

प्रधानमंत्री का जवानों से मिलने के दौरान सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत और भारत-तिब्बत सीमा पुलिस के महानिदेशक सुरजीत सिंह देसवाल भी उपस्थित रहे।

इसके बाद मोदी हर्षिल से केदानाथ मंदिर पहुंचे और उन्होंने मंदिर में पूजा अर्चना की। प्रधानमंत्री ने वर्ष 2013 में बाढ़ से प्रभावित इलाकें के पुनर्निमार्ण कार्य और केदारनाथ धाम के पुनर्निर्माण कार्यों का जायजा लिया।

मोदी के साथ उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने भी बाढ़ के बाद मंदाकिनी के तटों पर बने घाटों का भी जायजा लिया।

हर्षिल समुद्र तल से 8000 फुट से अधिक ऊंचाई पर स्थित है और यह भारत-चीन सीमा और प्रसिद्ध धार्मिक स्थान यमुनोत्री धाम के निकट है। इस घाटी में देश के आखिरी छोर पर बसे सबसे अधिक आबादी वाला स्थल है और इसकी सुंदरता देखते ही बनती है।

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी ने जवानों संग मनाई दिवाली.. जवानों को अपने हाथों से खिलाई मिठाई

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री ने वर्ष 2015 में पंजाब में भारत-पाकिस्तान सीमा पर नियंत्रण रेखा के पास सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के साथ दीपावली मनायी थी जबकि उन्होंने वर्ष 2016 में दीपों का त्योहार भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल के साथ हिमाचल प्रदेश में मनायी थी।  पिछले साल प्रधानमंत्री ने जम्मू कश्मीर के गुरेज सेक्टर में सेना के जवानों के साथ दीपावली मनायी थी। (वार्ता)

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …