महराजगंज शहर में कपड़ा व्यवसायी की निर्मम हत्या से सनसनी.. कोतवाल की भूमिका पर उठे सवाल.. पुलिस ने तीन को उठाया

डीएन संवाददाता

शहर कोतवाल रामदवन मौर्या की लापरवाही एक बार फिर उजागर हुई है। कोतवाली से महज दो किलोमीटर दूर मेन सड़क पर एक व्यवसायी की दर्दनाक हत्या ने कोतवाल के झूठे गश्त की कहानी की पोल खोलकर रख दी है। इस निर्मम हत्या के बाद लोगों में जबरदस्त गुस्सा और उबाल व्याप्त है। मौका-ए-वारदात से डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..

घटनास्थल पर पहुंचे एसपी आरपी सिंह, जमकर लताड़ा कोतवाल को
घटनास्थल पर पहुंचे एसपी आरपी सिंह, जमकर लताड़ा कोतवाल को

महराजगंज: शहर के बैकुंठपुर इलाके में आधी रात को सनसनी मच गयी। पावर हाऊस के ठीक सामने मेन सड़क पर मध्यरात्रि एक बजे के करीब कस्बे में कपड़े का व्यवसाय करने वाले युवा कपड़ा व्यापारी आशुतोष पटेल की रॉड से मारकर हत्या कर दी गयी।

यह भी पढ़ें: महराजगंज से बड़ी खबर.. आधा दर्जन पुलिस इंस्पेक्टरों का जिले से बाहर हुआ तबादला

वारदात को अंजान देने के बाद हत्यारे आराम से फरार हो गये। 

 

 

यह भी पढ़ें: कोतवाल से नही संभल रही कोतवाली, बीच बाजार में चोरी से व्यापारियों में दहशत

यह रात का वह समय है जब कोतवाल और इनके मातहतों को पूरे इलाके में गश्त करनी होती है लेकिन इस हत्या ने कोतवाल रामदवन मौर्या को लापरवाही को एक बार फिर उजागर कर दिया है। लंबे समय से कोतवाली में जमे कोतवाल मेन सड़क पर ही गश्त नही कर रहे हैं और सरेराह हत्या हो जा रही है और अपराधी आराम से फरार।

 

मृतक व्यवसायी (फाइल फोटो)

 

मौके पर पहुंचे डाइनामाइट न्यूज़ संवाददाता से बातचीत में लोगों ने पुलिस के नाकारापन के प्रति जमकर उपना गुस्सा निकाला। हालांकि घटना की जानकारी मिलते ही एसपी आरपी सिंह तत्काल मौके पर पहुंचे और पुलिस वालों की जमकर क्लास ली और पुलिसिया गश्त पर सवाल उठाये? 

घटनास्थल पर मौजूद भीड़

 

यह भी पढ़ें: महराजगंज आईटीएम में बवाल, तोड़फोड़.. छात्रों की पिटाई.. पुलिस ने कालेज प्रबंधन के आगे टेके घुटने

एसपी के कड़े रुख को देखते हुए पुलिस फार्म में आयी और तीन संदिग्धों को टांगकर कोतवाली ले आयी।

 

जांच में जुटी पुलिस टीम

 

खबर लिखे जाने तक क्राइम ब्रांच की टीम इनसे सख्ती से पूछताछ में जुटी हुई दिखी। पुलिस ने जिन लोगों को उठाया है उनमें मृतक का दोस्त भी शामिल है।

 

 

मौके पर लोगों के भारी आक्रोश को देखते हुए आधा दर्जन थानों की पुलिस फोर्स को तैनात किया गया है। हत्या की इस वारदात से व्यापारी और कुर्मी समाज में सरकार और कोतवाली पुलिस के प्रति भारी आक्रोश है। लोग इस मामले में कोतवाल के निलंबन की मांग कर रहे हैं। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार