Maharajganj LIVE: महराजगंज के मुख्य चौराहे को पहचान नहीं पायेंगे आप, नगर पुलिस चौकी हुई जमींदोज़

डीएन ब्यूरो

नगर का सीना चीर हाइवे निकाला जा रहा है। सुबह सवेरे से पोकलैंड मशीनों ने जो अराजकता मचायी, उससे आस-पास से गुजरने वाले लोग कांप उठे। सौ-सौ साल से अपने नंबर पर काबिज लोगों को बिना लिखित नोटिस व मुआवजे के मकान-दुकान तोड़ने के नाम पर हदसाया जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट से लेकर हाईकोर्ट के आदेशों की धज्जियां खुलेआम महराजगंज में उड़ाय़ी जा रही हैं। यदि किसी गरीब की लुटती व बर्बाद होती जिंदगी ने सदमे से किसी को काल में गाल में लील लिया तो फिर इसका जिम्मेदार कौन होगा? जिले के बड़े अफसर? एनएच के इंजीनियर, ठेकेदार या फिर मौन धारण किये जिले के वोटरों के दम पर सत्ता में बैठे जनप्रतिनिधि? डाइनामाइट न्यूज़ एक्सक्लूसिव..


महराजगंज: नितिन गड़करी और केशव मौर्य के बाईपास बनाये जाने के ऐलान को दरकिनार कर नगर का सीना चीरा जा रहा है। जिनकी वर्षों की जायज कमाई खुलेआम अतिक्रमण बता लुटी जा रही है, वे हैरान और परेशान हैं। ऐसे लोगों की कमी नहीं जो दूसरों की बर्बादी पर जश्न मना रहे हैं।

यह भी पढ़ें: महराजगंज LIVE: बिना लिखित नोटिस, बिना मुआवज़े के बुलडोज़र ने मचायी तबाही, हाइवे के नाम पर क़हर, ग़रीबों की नहीं है कोई सुनवाई

नगर के हजारों लोगों ने जब सुबह-सवेरे आंखे खोली तो देखा कि एक नही.. कई पोकलैंड मशीनों से मुख्य चौराहे को श्मशान में तब्दील कर दिया गया। एक झटके में नगर पुलिस चौकी से लेकर आस-पास के इलाके को बुलडोजर तले रौंद दिया गया। 

यह भी पढ़ें: महराजगंज LIVE: कटर मशीन की बजाय पोकलैंड के इस्तेमाल से बर्बादी की कगार पर नगरवासी

यह भी पढ़ें: Maharajganj LIVE: नेशनल हाइवे के अधिशासी अभियंता मणिकांत अग्रवाल कह कुछ रहे हैं और हो कुछ रहा है?

आम जनता जनप्रतिनिधियों की बेरुखी पर भारी गुस्से में हैं। नेताओं में साहस नहीं कि वे आम जनता के गुस्से का सामना करने के लिए उनके बीच में आ जायें।

नेताओं से लेकर अफसरों और इंजीनियरों तक ने खूब झूठ बोला कि 16-16 मीटर नही टूटेगा, इसे तीन मीटर घटा दिया जायेगा। अब आलम यह है कि ये नेता और अफसर किसी का फोन तक नहीं उठा रहे।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …