DN Exclusive: महाराजगंज निकाय चुनाव, जीत के बाद जनता की जिम्मेदारी से कतराते हैं नेता

डीएन संवाददाता

उत्तर प्रदेश के निकाय चुनावों को लेकर डाइनामाइट न्यूज़ हर दिन शहर के अलग-अलग वार्डों की चुनावी तस्वीर.. ताजा विश्लेषण के साथ आप तक पहुंचा रहा है। इस कड़ी में आज डाइनामाइट न्यूज़ की चुनावी टीम पहुंची है- महराजगंज के अंबेडकर नगर, वार्ड नंबर-03 में। जानिये क्या हैं, वहां के चुनावी समीकरण, जनता का रूझान और प्रत्याशियों के सामने चुनौतियां..


महाराजगंज: जिले में निकाय चुनाव की सरगर्मियां तेजी से बढ़ती जा रही हैं। सभासद के दावेदारों ने वोट के लिये ग्रामीणों को लुभाना शुरू कर दिया है। हर उम्मीदवार चुनाव जीतने के लिये कोई कसर नहीं छोड़ना चाहता है। चुनावी लड़ाई भले ही प्रत्याशियों के बीच हो, लेकिन इस चुनावी मुकाबले में सबसे बड़ी भूमिका जनता को निभाना है। उम्मीदवारों को जिताकर सत्ता तक पहुंचाने की चाभी भी जनता के पास ही है। डाइनामाइट न्यूज़ हर दिन शहर के अलग-अलग वार्डों की चुनावी तस्वीर ताजा विश्लेषण के साथ आप तक पहुंचा रहा है। इस कड़ी में आज डाइनामाइट न्यूज़ की चुनावी टीम पहुंची है- जिले के अंबेडकर नगर, वार्ड नंबर-03 में..

यह भी पढ़ें: DN Exclusive: महाराजगंज निकाय चुनाव, नेताओं की गैर-जिम्मेदारी से बाधित होता है विकास 

 

 

यह भी पढ़ें: DN Exclusive: महाराजगंज निकाय चुनाव- जिन नेताओं से की अपेक्षा, उनसे ही मिली उपेक्षा 

अंबेडकर नगर, वार्ड नंबर-03 का चुनावी परिदृश्य

1) आरक्षण स्थिति- अनुसूचित जाति, महिला 
2) जनसंख्या- 2000 लगभग
3) मतदाता- 979 
4) चुनाव लड़ने वाले कुल प्रत्याशी- 05 
5) वर्तमान सभासद- बाल गोपाल 
6) सबसे बड़ी समस्या: बिजली को पोलों का अभाव

 

 

यह भी पढ़ें: DN Exclusive: महाराजगंज निकाय चुनाव, विकास के लॉलीपॉप पर ठगी गयी जनता नेताओं को सिखायेगी सबक 

अंबेडकर नगर पर एक चुनावी नजर

अंबेडकर नगर जनपद का वार्ड नंबर-03 है। अंबेडकर नगर की पूरी तस्वीर एक गांव की तरह नजर आती है। इस वार्ड को विकास नामक दवाई की सख्त जरूरत नजर आयी। यहां छोटी-बड़ी कई तरह की समस्याओँ से लोग जूझ रहे है। इन समस्याओँ में जन सुविधाओँ के अभाव के अलावा घोटाले की शिकायतें भी शामिल है। निकाय चुनाव के लिये इस समय यहां की सीट अनुसूचित जाति (महिला) के लिये आरक्षित है। वार्ड से कुल 5 लोग चुनाव लड़ रहे है।  वार्ड के लोग निवर्तमान सभासद प्रदीप गौड़ से भी खासे नाराज है और उनके खिलाफ यहां की जनता को काफी शिकायतें हैं। 

 

 

यह भी पढें: DN Exclusive: महराजगंज निकाय चुनाव, विकास के नाम पर छली गयी जनता फिर वोट देने को तैयार 

जनता की मायूसी 

डाइनामाइट न्यूज़ की चुनावी टीम जब अंबेडकर नगर पहुंची तो यहां के लोग अपना दर्द बयां करने को उत्सुक नजर आए। लोगों ने यह भी बताया कि वार्ड में विकास तो हुआ, पर वह केवल सड़कों तक ही सीमित रहा। वार्ड में कई टूटी-फूटी नालियां थी, जिसमें गंदगी और भारी जलजमाव था। वार्ड के लोग कई तरह की परेशानियों से जूझ रहे हैं। सभी लोग काफी मायूस दिखे। सार्वजनिक स्थानों पर साफ-सफाई का बड़ा अभाव नजर आया। जब जनता से खुलकर बात की गयी तो उन्होंने कई ऐसी जानकारी दी, जिनका अंदाजा हमें भी न था। शायद इन्हीं कारणों से यहां की जनता मायूस थी।

 

 

यह भी पढें: DN Exclusive: महराजगंज निकाय चुनाव, प्रत्याशियों पर भरोसा नही कर पा रही है जनता 

33 लाख का पार्क, सुविधायें सिफर

डाइनामाइट न्यूज़ की चुनावी टीम को अंबेडकर नगर की जनता ने बताया कि उनके वार्ड में कई घोटाले भी हुए है। वर्तमान सभासद से उनकी कई शिकायतें थी। जनता न कहा कि गांव में निर्मित 33 लाख रूपये के पार्क में इंटरलॉकिंग एवं रेलिंग के अलावा कुछ नहीं है।  पार्क में जाने के लिये न तो कोई रास्ता है और ना ही कोई पेड़-पौधे लगाये गये हैं। इतना भारी भरकम राशि पार्क पर लगाने के बाद भी जनता को कुछ हासिल नहीं हुआ। 

 

 

यह भी पढें: DN Exclusive: महराजगंज निकाय चुनाव में खुल रही है पुराने नेताओं की पोल 

घुसखोरी और घोटाला

जनता ने विवाह स्थल के निर्माण में भी जनप्रतिनिधियों पर कई सवाल उठाये। जनता का आरोप है कि लगभग 27 लाख रूपये से निर्मित विवाह स्थल में एक छोटे हाल के अलावा अन्य कोई सुविधाएं नहीं दी गई हैं। इसके अलावा ऑटो रिक्शा वितरण में भी भारी घुसखोरी की जाती है। एक व्यक्ति ने यह भी आरोप लगाया कि जनप्रतिनिधि द्वारा निशुल्क वितरण होने वाले ऑटो रिक्शा के लिए उससे पैसे लिए गये और पैसे देने के बावजूद भी ऑटो रिक्शा उपलब्ध नहीं कराया गया। वर्तमान सभासद का कहना है कि उन्होंने सड़कें वहां तक बनवायी हैं, जहां तक लोग शौच करने जाते हैं। लेकिन जनता का कहना है कि यहाँ अभी भी लोग खुले में ही शौच करने जाते हैं।

 

 

यह भी पढ़ें: DN Exclusive: महराजगंज निकाय चुनाव, वोटों के लिये मुंह ताक रहे प्रत्याशियों के लिये जनता का रुख अभी साफ नहीं

जीत का दुरूपयोग

डाइनामाइट न्यूज़ टीम ने वार्ड के अंदर गलियों में देखा कि बाँस और बल्ली के सहारे लोग बिजली की तारें अपने घरों तक पहुंचा रहे हैं। अंबेडकर नगर की जनता का कहना है कि लोग अपना कीमती मत इसलिए देते है, ताकि उनके मतों का सही उपयोग हो। लेकिन नेता जीत के बाद हमारे मतों का दुरूपयोग करता है, जिससे बड़ा दुख होता है। जनता उम्मीद करती है कि जनप्रतिनिधि उनकी अपेक्षाओं पर खरें उतरेंगे लेकिन नेता जीत के बाद केवल अपना विकास करने में जुट जाता है। 
 

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार