लखनऊ: स्‍थानीय पुलिस से न्‍याय की उम्‍मीद खो चुकी महिलाओं ने विधानभवन के सामने किया आत्‍मदाह का प्रयास

डीएन ब्यूरो

यूपी में कानून व्‍यवस्‍था को अपराधी ही नहीं पुलिस की कार्यशैली भी पलीता लगा रही है। सोनभद्र मामला हो या उन्‍नाव रेप केस, पुलिस की लचर कार्रवाई का ही नतीजा रहा कि आरोपियों ने बड़ी घटनाओं को अंजाम दिया। ऐसे ही एक जौनपुर के मामले में पीड़िता ने लखनऊ में लोकभवन के सामने आत्‍मदाह करने का प्रयास किया। डाइनामाइट न्‍यूज़ पर पढ़ें पूरी खबर..


लखनऊ: यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कानून व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए जब लोक भवन में विधायकों के साथ बैठक कर रहे थे उसी दौरान लोकभवन के बाहर जौनपुर से आई दलित परिवार की तीन महिलाओं ने न्‍याय की गुहार लगाते हुए आत्‍मदाह करने का प्रयास किया। एक पीड़ि‍त महिला ने बताया कि दबंगों ने उसकी जमीन पर कब्‍जा कर लिया है पुलिस से शिकायत करने पर दुष्‍कर्म किया।

यह भी पढ़ें: ‘डाइनामाइट न्यूज़ यूपीएससी कॉन्क्लेव 2019’: आईएएस परीक्षा से जुड़ा सबसे बड़ा महाकुंभ

वहीं शिकायत के बावजूद स्‍थानीय पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। आत्‍मदाह की घटना की जानकारी से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। किसी तरह सुरक्षाकर्मियों ने महिलाओं को रोका और न्‍याय का भरोसा दिलाया।

यह भी पढ़ें: भाजपा युवा मोर्चा के जिला मंत्री पर जानलेवा हमला, फायरिंग, अपराधियों के हौसले बुलंद

पीड़ि‍त महिला को आत्‍मदाह से रोकती पुलिस। 

सीएम योगी कानून व्‍यवस्‍था, खासकर महिलाओं की सुरक्षा को लेकर आए‍ दिन सख्‍त कदम उठाने के निर्देश देते रहते हैं इसके बावजूद प्रदेश में न कानून व्‍यवस्‍था का राज दिखाई देता है और ना ही महिलाएं सुरक्षित। ताजा मामला यूपी के जौनपुर की तहसील शाहगंज के थाना सरपतहा का है।

यह भी पढ़ें: पीड़िता व वकील की सुरक्षा शिफ्ट में किया गया भारी बदलाव

वहां की निवासी दलित महिला ने आरोप लगाया है कि उसके दबंग पड़ोसियों ने उसकी जमीन कब्‍जा कर लिया और शिकायत करने पर 16 फरवरी 2019 को उसके साथ मारपीट कर दुष्‍कर्म किया गया। घटना के बाद थाने के चक्‍कर काटने के बाद एसपी के हस्‍तक्षेप के बाद मामला दर्ज कर लिया गया लेकिन तब से अब तक जौनपुर पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। जिससे अपराधियों के हौसले और अधिक बुलंद हैं। आरोपी लगातार पीड़ित पर‍िवार पर शिकायत वापस लेने की धमकी दे रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: मामूली सी बात पर दबंगो ने पति पत्नी को मारी गोली, दोनों की हालत गंभीर

पुलिस के कार्रवाई न करने और आरोपियों द्वारा लगातार केस वापस लेने का दबाव बनाए जाने पर पीड़िता अपनी दो महिला परिजनों के साथ लखनऊ पहुंची। जहां उसने राजभवन के सामने आत्‍मदाह करने का प्रयास किया। पीड़ित महिलाओं का कहना है कि वह मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ से न्‍याय मांगने आई हैं। मामले की सूचना पर पहुंची हजरतगंज थाने की पुलिस ने उन्‍हें समझा बुझाकर आत्‍मदाह से रोका और न्‍याय का भरोसा दिलाया। 

यह भी पढ़ें: सुनवाई को लेकर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा बयान, CJI ने कहा मध्‍यस्‍थता से नहीं बनी बात

वहीं आत्‍मदाह के प्रयास की सूचना मिलते ही जौनपुर प्रशासन एक बार फिर अपनी कुंभकर्णी नींद से जाग गया। रात में ही पीड़िता के घर एसडीएम राजेश वर्मा, सीओ अजय श्रीवास्तव व प्रभारी निरीक्षक सरपतहां विजय चौरसिया पहुंचे। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …