RTI का बड़ा खुलासाः भारतीय रेलवे ने पिछले 10 साल में कबाड़ से कमाए इतने करोड़ रूपए

डीएन ब्यूरो

भारतीय रेलवे ने बड़ा खुलासा करते हुए बताया है कि बीते दस सालों में बेचे गए कचड़े से रेलवे की अभी तक करोड़ो कमाई हुई है। एक आरटीआई आवेदन के जवाब में जारी ब्यौरे में ये बात सामने आई है। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर..

फाइल फोटो
फाइल फोटो

नई दिल्लीः भारतीय रेलवे ने कबाड़ बेचकर अपने खजाने में एक बड़ी धनराशि जोड़ी है। रेलवे की तरफ से एक आरटीआई आवेदन के जवाब में जारी ब्यौरे के मुताबिक विभाग ने बताया कि बीते 10 सालों में कबाड़ से 35,073 करोड़ रुपये की कमाई की है।

यह भी पढ़ेंः बाजार में विदेशी सब्जियों की भरमार, किसान हो रहे मालामाल

रेलवे बोर्ड की तरफ से दी गई जानकारी के साल 2009-10 से 2013-14 के बीच 6,885 करोड़ रुपये के स्क्रैप बेचे गए, वहीं साल 2015-16 से 2018-19 की अवधि के बीच 5,053 करोड़ रुपये के स्क्रैप बेचे गए। कुल मिलाकर 10 सालों में रेल पटरियों का स्क्रैप बेचने से 11,938 करोड़ रुपये की आमदनी हुई है।

रेलवे कबाड़

यह भी पढ़ेंः PM मोदी ने अर्जन सिंह के सम्मान में डाक टिकट जारी किया, कही ये बड़ी बात

रेलवे से मिली जानकारी के मुताबिक इसमें कोच, वैगन्स और पटरी के कबाड़ शामिल हैं। बेचे गए कबाड़ में सबसे बड़ी हिस्सेदारी रेल पटरियों की है। इससे ऐसा लगता है कि अंतिम पांच साल की अवधि में रेल पटरियों में कम बदलाव हुआ है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार