अयोध्या में धर्म सभा सम्पन्न..विश्व हिंदू परिषद बोली-राम मंदिर के लिये चाहिये पूरी भूमि

डीएन ब्यूरो

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की मांग को लेकर विश्व हिंदू परिषद की धर्म संसद सम्पन्न हो गई है। विहिप ने राम मंदिर के लिये पूरी भूमि की मांग की है। डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट में पढ़ें धर्म संसद में VHP ने राम मंदिर को लेकर और क्या कहा


अयोध्याः राम मंदिर निर्माण की मांग को लेकर रविवार को हुई विश्व हिंदू परिषद की धर्म संसद सम्पन्न हो गई है। यहां विहिप के उपाध्यक्ष चंपत राय ने राम मंदिर को लेकर महाभारत का एक उदाहरण देकर कहा कि जब अर्जुन नहीं समझ रहे थे तो कृष्ण ने मुंह खोला था। आज वहीं काम विश्व हिंदू परिषद कर रही है। अयोध्या में केवल राम मंदिर चाहिये। मस्जिद का कोई स्थान नहीं है। हमें पूरी जमीन चाहिये, जमीन का बंटवारा नहीं होगा।    

यह भी पढ़ेंः प्लेन टेकऑफ के दौरान बाल-बाल बचे शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे.. टला बड़ा हादसा

 

 

उन्होंने कहा कि अब हिंदूओं के सब्र का बांध टूट चुका है, उनके सब्र की अब और परीक्षा नहीं ली जानी चाहिये। आज तो सिर्फ 48 जिलों से अयोध्या में रामभक्त पहुचे अब आगे यहं और भीड़ आयेगी। धर्म संसद के मंच से विश्व हिंदू परिषद ने सरकार से आगामी शीतकालीन सत्र में राम मंदिर के लिये अध्यादेश लाने की भी मांग की है।      

यह भी पढ़ेंः अयोध्याः तो क्या 11 दिसंबर के बाद राम मंदिर का ऐलान करेगी सरकार ?

 

विश्व हिंदू परिषद की धर्म संसद में पहुंचे साधु-संत

 

यह भी पढ़ेंः अयोध्या को लेकर शिवसेना और भाजपा में घमासान.. मची श्रेय लेने की होड़

राम मंदिर निर्माण की मांग को लेकर आमरण अनशन कर चुके तपस्वी छावनी के महंत स्वामी परमहंस दास ने भी कहा कि भाजपा आज विश्व हिंदू परिषद को आगे करके धर्माचार्य को तोड़ने-फोड़ने का काम कर रही है। परमहंस ने चेतावनी दी है कि अगर 6 दिसंबर से पहले राम मंदिर निर्माण शुरू नहीं हुआ तो वह आत्मदाह कर देंगे। धर्म सभा में महंत नृत्य गोपाल दास मंच पर सबसे आगे बैठे हुये थे। महामंडलेश्वर भवानी नाथ वाल्मीकि की अगुआई में यहां देशभर से पहुंचे किन्नर भी धर्मसभा में पहुंचे थे।  

अयोध्या में राम मंदिर को लेकर मचे घमासान के बीच डाइनामाइट न्यूज़ आप तक पहुंचा रहा है हर एक अपडेट सबसे पहले.. क्लिक करें ये लिंक https://hindi.dynamitenews.com/tag/DynamiteAyodhyaUpdate और जानें लेटेस्ट खबरें 

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …