करतारपुर जाने वाले श्रद्धालुओं को मिलेंगी खास सुविधाएं, जानें क्या हैं वो सुविधाएं

डीएन ब्यूरो

शनिवार को श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के मौके पर भारत-पाकिस्तान के बीच दरार बनी दीवार करतारपुर साहिब कॉरिडोर को खोल दिया गया है। इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट के उद्घाटन से भारतीय तीर्थयात्रियों को पाकिस्तान के गुरुद्वारा करतारपुर साहिब जाने की सुविधा मिली है। इस दौरान तीर्थयात्रियों को कई तरह की विशेष सुविधाएं भी मिलेगी। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर..

करतारपुर कॉरिडोर
करतारपुर कॉरिडोर

नई दिल्लीः 9 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर को खोल दिया गया है। जिससे अब श्रद्धालु आसानी से दर्शन कर सकते हैं। इसके साथ ही श्रद्धालुओं को यात्रा के दौरान खास तरीके की सुविधाएं भी मिलेंगी। जानिए क्या हैं वो खास सुविधाएं।

यह भी पढ़ें: भारत की भावनाएं समझने के लिए प्रधानमंत्री ने इमरान खान का किया शुक्रिया 

करतारपुर साहिब जिसे मूल रूप से गुरुद्वारा दरबार साहिब के नाम से जाना जाता है, पवित्र तीर्थस्थलों में से एक है और माना जाता है कि सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव यहां अपने जीवन के अंतिम दिन बिताए थे। उनकी 550वीं जयंती 12 नवंबर को पड़ती है।

अत्याधुनिक यात्री टर्मिनल भवन का निर्माण किया गया है। जो कि कुल 15 एकड़ की जमीन में किया गया है। ये इमारत पूरे एक हवाई अड्डे के जैसा होगी। ये इमारत पूरी तरह से वातानुकुल होगी। इसमें एक दिन में लगभग 5,000 तीर्थयात्री रह सकते हैं। यात्रियों की सुविधा के लिए 50 से अधिक इमिग्रेशन काउंटर हैं। इसमें मुख्य भवन के अंदर कियोस्क, वॉशरूम, चाइल्डकेयर, प्राथमिक चिकित्सा सुविधा, प्रार्थना कक्ष और स्नैक्स काउंटर जैसी सभी आवश्यक सार्वजनिक सुविधाएं हैं।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार