दिल्ली की वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में

डीएन ब्यूरो

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बढ़ने के साथ ही वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) गुरुवार को 460 दर्ज किया गया जो ‘गंभीर श्रेणी’ में आता है।

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:  राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बढ़ने के साथ ही वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) गुरुवार को 460 दर्ज किया गया जो ‘गंभीर श्रेणी’ में आता है।

यह भी पढ़ें: दिल्ली में वायु की गुणवत्ता बदतर, ऑड-ईवन में हो सकता है इजाफा

द्वारका सेक्टर आठ में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 496 और जवाहरलाल नेहरु स्टेडियम में 492 दर्ज किया गया।

गौरतलब है कि वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 0-50 के बीच ‘अच्छा’, 51-100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101-200 के बीच ‘मध्यम’, 201-300 के बीच ‘खराब’, 301-400 के बीच ‘अत्यंत खराब’, 401-500 के बीच ‘गंभीर’ और 500 के पार ‘बेहद गंभीर एवं आपात’ माना जाता है।

खराब मौसम और आसपास के क्षेत्रों में पराली जलाने की घटनाओं के कारण राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में प्रदूषण की स्थिति ‘आपात श्रेणी’ में पहुंच गई। बढ़ते प्रदूषण की गंभीरता को देखते हुए प्रशासन ने 15 नवंबर तक स्कूल बंद रखने के आदेश दिए हैं।

यह भी पढ़ें: Lifestyle- जहरीली हवा का पड़ रहा सेहत पर बुरा असर, इन टिप्स से रखें हेल्थ का ख्याल

पर्यावरण प्रदूषण(रोकथाम एवं नियंत्रण) प्राधिकरण ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में गंदे ईंधन का प्रयोग करने वाले उद्योगों, हॉट मिक्स प्लांट और स्टोन क्रशर पर 15 नवंबर की सुबह तक प्रतिबंध बढ़ा दिए थे।

मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार से तेज हवाएं चलने की संभावना है जिससे वायु प्रदूषण कम हो सकता है। (भाषा)

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार