Uttar Pradesh: श्रमिकों को बसें उपलब्ध कराने पर भिड़े भाजपा-कांग्रेस, एक दूसरे पर आरोपों का दौर शुरू

डीएन ब्यूरो

यूपी में श्रमिकों के लिए बसों को लेकर कुछ दिनों से राज्य सरकार और कांग्रेस में तानातनी चल रही है। जिसे लेकर दोनो पार्टियां एक दूसरे पर आरोप लगाए जा रहे हैं। वहीं गुरुवार को कांग्रेस स्टेट प्रवक्ता अशोक सिंह ने भी राज्य सरकार पर आरोप लगाते हुए सवाल दागे हैं। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर..


लखनऊः यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू पर यूपी पुलिस द्वारा की गई कारवाई को कांग्रेस राजनैतिक बदले की भावना से देख रही है। कांग्रेस का कहना है की यदि सरकार को बसे लेनी ही नही थी तो आखिर पहले अनुमति क्यों दी गई।

आज पूर्व पीएम राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर यूपी कांग्रेस मुख्यालय पर उन्हें श्रद्धांजली दी गई। इस मौके पर ही 50 हजार कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने फेसबुक पर लाइव जाकर जनता के सामने अपना पक्ष रखा।

राजीव गांधी को दी गई श्रद्धांजली

इस मौके पर बात करते हुए कांग्रेस स्टेट प्रवक्ता अशोक सिंह ने कहा की चूंकि कोरोना महामारी के दौरान लाकडाउन का एलान किया गया है। नहीं तो, सरकार की इस दमन नीति के विरोध में आज कांग्रेस कार्यकर्ता सङको पर उतर कर सरकार की चूलें हिला देते।

सरकारें आती-जाती रहती हैं, मगर इस तरीके से विपक्ष का दमन करना ठीक नहीं है। आज भी श्रमिक पैदल चलने को मजबूर हैं और हमारे द्वारा मदद का दिया गया प्रस्ताव सरकार ने ठुकरा दिया। कुल मिलाकर, कहा जा सकता है की ये मुद्दा आगे भी कांग्रेस और भाजपा के बीच राजनैतिक रस्साकशी का कारण बना रहेगा।








संबंधित समाचार