बलरामपुर: घर में घुसकर दबंगों ने परिवार के 7 लोगों को लाठी-डंडों से पीटा, दो की हालत गंभीर

डीएन संवाददाता

गौरा चौराहा थाना क्षेत्र के मनकी गांव में कुछ दबंगों ने एक घर में घुसकर परिवार के लोगों के साथ जमकर मारपीट की। इस घटना में कुछ महिला और पुरुष बुरी तरह जख्मी हो गये। पुलिस ने पहले पीड़ितों को केवल रिपोर्ट लिखकर वापस भेज दिया था लेकिन एसपी से गुहार लगाने के बाद दबंगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गयी। पूरी खबर..

घायल पीड़ित परिवार
घायल पीड़ित परिवार

बलरामपुर: थाना गौरा चौराहा के ग्राम मनकी में कुछ दबंग एक गरीब परिवार के घर में घुसे और परिवार के सदस्यों को लाठी-डंडों से पीट-पीटकर लहूलुहान कर दिया। दबंगों के इस हमले में घर के तीन पुरुष और दो महिलाओं समेत कुल सात लोग घायल हो गये। एक महिला तथा एक पुरुष की हालत गंभीर बताई जा रही है। हमलावर मारपीट करने के बाद घर में रखे बीस हजार रूपए व कीमती सामान उठा ले गए। बताया जाता है कि पीड़ित परिवार थाने में पहुंचा तो वहां मौजूद दीवान ने रिपोर्ट लिख कर मेडिकल कराने के बजाए उन्हें वहाँ से भगा दिया।

 

 

पीड़ित अब्दुल हकीम ने बताया कि उसी के गांव के कुछ दबंग किस्म के लोग उसे गांव से भगा देना चाहते हैं। हमला करने वाले दबंगों में चंद्रिका, बरसाती, बिंदु लाल, केशव, रमेश, राम उजागर, पंचम व सफीउल्लाह शामिल है। हमलावर शुक्रवार सुबह घर में घुसे और महिलाओं तथा पुरुषों को लाठी- डंडों से मारना शुरू कर दिया।इस हमले में एक महिला का हाथ टूट गया एक तथा अन्य महिलाएं बुरी तरह जख्मी हो गई। एक पुरुष का सर फट गया तथा दो अन्य पुरुष भी जख्मी हो गए।

इस घटना में घायल लोग पहले थाने पहुंचे थे लेकिन वहां पुलिस ने महज रिपोर्ट लिखकर और बिना मेडिकल कराये सभी को वापस भेज दिया। जिसके बाद नाराज लोगों ने एसपी के पास जाने का फैसला लिया।  

न्याय की आस में पीड़ित परिवार लहूलुहान अवस्था में ही पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचा, जहां पर अपर पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र कुमार सिंह ने एसओ गौरा को निर्देश दिया की तत्काल रिपोर्ट दर्ज कर घायलों का मेडिकल कराएं और आरोपियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करें।

इस मामले में अपर पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि यह घटना पुरानी रंजिश को लेकर हुई है। आरोपियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच कराई जा रही है। पीड़ितों को चिकित्सीय इलाज व मेडिकल के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार