अंकिता हत्याकांड को लेकर उत्‍तराखंड में आक्रोश, अनैतिक काम न करने पर हुआ मर्डर, जांच के लिए एसआइटी गठित

डीएन ब्यूरो

उत्तराखंड के ऋषिकेश में अंकिता भंडारी की हत्या को लेकर लोगों में काफी रोष और उबाल है। शनिवार सुबह अंकिता का शव चीला बैराज से बरामद किया गया। मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी गई है। पढ़िये डाइनामाइट न्यूज़ की पूरी रिपोर्ट

अंकिता हत्याकांड को लेकर उत्‍तराखंड में आक्रोश (फाइल फोटो)
अंकिता हत्याकांड को लेकर उत्‍तराखंड में आक्रोश (फाइल फोटो)


देहरादून: धर्मनगरी ऋषिकेश में हुई अंकिता भंडारी की हत्या को लेकर उत्तराखंड के लोगों में कोफी आक्रोश और उबाल है। 18-19 सितंबर से लापता अंकिता के शव को शनिवार सुबह चीला बैराज के पास से बरामद कर लिया गया। अंकिता के परिजनों ने उसके शव की पहचान की। इस हत्यकांड में तीन आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। अब मुख्‍यमंत्री पुष्‍कर सिंह धामी ने अंकिता हत्याकांड की जांच के लिये एसआइटी गठित करने के आदेश दिए हैं। उन्‍होंने कहा कि जघन्य अपराध के दोषियों को बख्शा नहीं जायेगा। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने के लिए पुलिस उपमहानिरीक्षक पीरेणुका देवी के नेतृत्व में एसआइटी का गठन कर इस गंभीर मामले की गहराई से जांच के आदेश दिए गए हैं।

सीएम धामी ने शनिवार को ट्वीट कर लिखा “आज प्रातः काल बेटी अंकिता का पार्थिव शव बरामद कर लिया गया। इस हृदय विदारक घटना से मन अत्यंत व्यथित है। दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने हेतु पुलिस उपमहानिरीक्षक पी. रेणुका देवी जी के नेतृत्व में SIT का गठन कर इस गंभीर मामले की गहराई से जांच के भी आदेश दे दिए हैं”।

ऋषिकेश के वन्नतरा रिसॉर्ट में रिसेप्‍शनिस्‍ट की नौकरी कर रही पौड़ी निवासी अंकिता की उसी रिजॉर्ट के मालिक पुल्कित आर्या और दो साथियों अंकित और सौरभ ने हत्‍या कर दी थी। 

अब तक सामने आये तथ्यों के मुताबिक होटला मालिक पुल्कित आर्या अंकिता को ग्राहकों से अनैतिक संबंध रखने और एक्सट्रा सर्विस देने का दबाव बना रहा था, जिससे अंकिता बार-बार मना कर रही थी। इसी बात को लेकर अंकिता की हत्या कर दी गई। अंकिता को 18 सितंबर की रात नहर में धक्‍का दे दिया गया था।










संबंधित समाचार