भीलवाड़ा: जर्जर हो रहा 35 साल पुराना स्कूल, हादसे की आशंका से बच्चों को सहकारी समिति परिसर में बैठाया

डीएन ब्यूरो

भीलवाड़ा जिले में 35 साल पुराने स्कूल की बिल्डिंग की हालत अब जर्जर हो चुकी है। जिससे वहां पर पढ़ने वाले बच्चों पर हादसा का खतरा मंडरा रहा है। क्लासरूम की चार पट्टियां क्षतिग्रस्त हो गई है, और बच्चों से क्लास खाली करवा दिए गए हैं। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर..


भीलवाड़ा: जिले के ईरास के 35 साल पुराना राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय भवन जर्जर हो चुका है। क्लास की चार पट्टियां क्षतिग्रस्त हो गई है और संस्था प्रधान ने पट्टियों के गिरने की आशंका में तीन कमरों को खाली करा दिए हैं। इन बच्चों को पास ही ग्राम सेवा सहकारी समिति परिसर में बैठाया गया है। 

यह भी पढ़ें: भीलवाड़ा: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दी गंगापुर क्षेत्र को ADJ स्थायी कोर्ट की सौगात, अधिवक्ताओं में खुशी की लहर

ईरास के स्कूल में 450 बच्चे पढ़ते हैं। विद्यालय भवन पूरा जर्जर अवस्था में हो चुका है, जिससे बच्चों को बैठाने में मुश्किल हो रही है। विद्यालय भवन में बच्चों के बैठने के लिए जगह की कमी होने से छोटे बच्चों को नीम की छांव में बैठाया जा रहा है, जिससे बच्चें खाना भी खुले में खा रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: भीलवाड़ा: गुरु वंदन छात्र अभिनंदन का हुआ आयोजन, बच्चों ने ली नशा मुक्ती और स्वच्छता की शपथ

संस्था प्रधान मदनगोपाल व्यास ने बताया कि जर्जर भवन की अवस्था में सहकारी समिति में 3 क्लास के बच्चों को पढ़ाया डा रहा है। क्लास 10 वीं, 11 वीं, 12 वीं के कमरे और बरामदे की पट्टियां टूट चुकी है जो कभी भी गिर सकती है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार