Uttar Pradesh: बढ़ता जा रहा उल्टी-दस्त का प्रकोप, दो लोगों की हुई मौत

डीएन ब्यूरो

साफ-सफाई ना होने के कारण लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस वजह से कई जानलेवा बीमारियां फैल रही हैं, जिससे ग्रामीणों की जान तक जा रही है। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर..


महराजगंजः सिसवा विकासखंड ग्राम सभा गौरी किसुन गांव में साफ-सफाई न होने व जगह-जगह फैली गंदगी के चलते गांव में उल्टी दस्ट का भयानक प्रकोप फैलते जा रहा है। सोमवार को उल्टी दस्त से गांव के महिला व एक बच्ची की मौत चुकी है, वहीं आधा दर्जन से अधिक लोगों को हालत बिगड़ने के कारण सिसवा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है।

यह भी पढ़ें: अयोध्या केस सुनवाईः राम जन्म स्थान पर मुस्‍लिम पक्ष ने लिया यू-टर्न, पलटे अपने बयान से

बुधवार सिसवा विकास खंड के ग्रामसभा गौरी किशुन में हुए उल्टी-दस्त से महिला व बच्ची की मौत के बाद जागा प्रशासन।  सिसवा स्वास्थ्य विभाग तथा ब्लॉक की टीम ने गांव में जाकर  गांव फैली गंदगी की साफ-सफाई कराने के बाद ग्रामीणों को साफ-सफाई के प्रति जागरूक रहने की सलाह दी। बता दें कि सोमवार को गांव की 33 साल की रंजना उल्टी दस्त की चपेट में आने के कारण उसे सिसवा पीएचसी से जिला अस्पताल और उसके बाद मेडिकल कालेज रेफर कर दिया गया था। जहां उसकी रास्ते में ही मौत हो गई। वहीं सोमवार को भी गांव की रामेश्वर की 6 वर्षीया पुत्री कुंती को भी सुबह उल्टी-दस्त की चपेट में आई और दोपहर में उसकी भी मौत हो गई। उसके उपरांत 70 वर्षीया सम्फुला, अंगिरा पुत्री सुखल,रीता पत्नी मुन्नर, उर्मिला पत्नी चेतन सहित आधा दर्जन लोग अभी भी अस्पताल में भर्ती हैं।
यह भी पढ़ें: इलाहाबाद हाई कोर्ट से मिली आजम खान को राहत, 29 मुकदमों पर लगाई रोक

गांव में फैला कूड़े का ढेर

इसकी सूचना मिलते ही बुधवार को सिसवा ब्लाक के एडीओ पंचायत राधेश्याम, ग्राम विकास अधिकारी राकेश कृष्ण त्रिपाठी सफाई कर्मी को लेकर गांव पहुंचे और साफ-सफाई करवाई। उन्होनें गांव में पहुंच कर क्लोरीन, मेट्रोजिल, ओआरएस बांटा, और गांव की नालियों में ब्लीचिंग पावडर का छिड़काव कराया गया।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार