बुलंदशहर हिंसा में पुलिस की भारी लापरवाही..आरोपियों की लिस्ट में निर्दोष का भी नाम

डीएन ब्यूरो

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में गोकशी को लेकर भड़की हिंसा में पुलिस की कार्रवाई पर अब सवालियां निशान खड़े हो रहे हैं। पुलिस की लिस्ट में आरोपितों की जगह एक निर्दोष का भी नाम चस्पा किया गया हैं। जिससे अब बवाल मच गया है। डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट

पुलिस की लिस्ट में निर्दोष का भी आया नाम
पुलिस की लिस्ट में निर्दोष का भी आया नाम

बुलंदशहरः गोकशी को लेकर उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में हुई हिंसा में एक बड़ा खुलासा है। मामले में पुलिस की भारी लापरवाही सामने आई है, पुलिस ने मुख्य आरोपी योगेश राज समेत 22 आरोपियों के घर पर नोटिस चस्पा किये हैं। इसमें पुलिस की जो बड़ी चूक सामने आईं है वह यह कि जिला पुलिस ने जल्दबाजी में एक निर्दोष को भी हिंसा के आरोपितों में शामिल कर अपनी लिस्ट में उसका भी नाम शामिल किया है।       

यह भी पढ़ेंः यूपीः प्लांट में लगी भयंकर आग.. मजदूरों ने कूदकर बचाई जान, चारों तरफ फैली धुएं की चादर

हिंसा में शहीद हुए स्याना इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और एक अन्य युवक की गोली लगने से हुई मौत के बाद भी पुलिस अब तक मामले में मुख्य आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। पुलिस ने अब हिंसा के मुख्य आरोपी योगेश राज समेत 22 आरोपितों के घर पर कुर्की नोटिस को चस्पा किया है। पुलिस अब एसआईटी कोर्ट से धारा 83 के आधार पर कार्रवाई के आदेश लेकर कुर्की करेगी। यह नोटिस एसपी सिटी अतुल श्रीवास्तव के नेतृत्व में चिंगरावठी गांव में लगाया गया है जहां पुलिसबल भारी संख्या में पहुंचा था।      

यह भी पढ़ेंः यूपीः बीच सड़क पर धूं-धूं कर कार में लगी आग.. 4 लोगों को जिंदा जलते देख लोगों के खड़े हुये रोंगटे

  

पुलिस ने आरोपियों के नोटिस किए चस्पा 

 

यह भी पढ़ेंः UP: टूटी रेल पटरी से गुजरी यशवंतपुर-गोरखपुर एक्सप्रेस.. रेल कर्मियों के फुले हाथ-पांव

पोस्टर को चस्पा करने वाली पुलिस की जो सबसे बड़ी चूक सामने आई है वह यह है कि पुलिस द्वारा जारी किए गए पोस्टर में दूसरे नंबर पर एक विशाल त्यागी नाम के शख्स की तस्वीर लगाई गई है। मामले में जो विशाल त्यागी बलवे में शामिल था उसकी जगह पर एक दूसरे विशाल त्यागी जिसका की इस केस से कोई लेना-देना नहीं है उसको भी इसमें घसीट दिया है। इस युवक का पता भी अलग है। 

मामले का पता चलते ही पीड़ित विशाल त्यागी ने एडीजी ऑफिस में इसकी शिकायत की है। विशाल ने बुलंदशहर पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस ने सोशल मीडिया से जो फोटो उठाए हैं उसी के आधार पर उन्हें भी वांछित घोषित किया है। पुलिस की इस भारी लापरवाही से अब यूपी पुलिस की किरकिरी हो रही है। 

 

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …