उन्नाव गैंग रेप मामले में घिरी यूपी सरकार ने की CBI जांच की सिफारिश, पीड़िता के परिवार को सुरक्षा

डीएन ब्यूरो

उन्नाव गैंग रेप और पीड़िता के पिता की संदिग्ध मौत समेत भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर लगे आरोपों को लेकर गृह सचिव अरविंद कुमार और डीजीपी ओपी सिंह ने आज सरकार का पक्ष रख कई तरह की सफाई पेश की। पूरी खबर..


लखनऊ:  उन्नाव गैंग रेप, पीड़िता के पिता की मौत और भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर लगे आरोपों को लेकर गृह सचिव अरविंद कुमार और डीजीपी ओपी सिंह ने लखनऊ में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया। इस दौरान गृह सचिव अरविंद कुमार ने बताया कि पीड़ित परिवार को सुरक्षा मुहैया कराने का फैसला शासन द्वारा लिया गया है और जल्द ही पीड़ित परिवार को सुरक्षा दी जाएगी।

यह भी पढ़ें: उन्नाव गैंग रेप: आरोपी विधायक की पत्नी बोली, रेप पीड़िता के साथ कराया जाये पति का नार्को टेस्ट

पीड़िता के पिता की मौत मामले में गृह सचिव अरविंद कुमार ने बताया कि मामले में लापरवाही बरतने वाले चिकित्सा अधिकारियों के खिलाफ निलंबन की कार्यवाही की गई है और साथ ही एसआईटी की जांच में कुछ और अधिकारियों के नाम सामने आए हैं, उनके खिलाफ भी जल्द कार्यवाही की जाएगी।

यह भी पढ़ें: लखनऊ: उन्नाव गैंग रेप और पीड़ित के पिता के मौत की होगी SIT जांच

 

यह भी पढ़ें: उन्नाव गैंग रेप: भाजपा MLA के भाई अतुल की गिरफ्तारी के लिये लखनऊ क्राइम ब्रांच ने चलाया सीक्रेट अभियान

वहीं डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि मामले की जांच सीबीआई को सौंपने का फैसला किया गया है और इससे संबंधित सिफारिशी पत्र आज रात तक भारत सरकार को भेजा जाएगा।

प्रमुख सचिव गृह ने सरकार का पक्ष रखते हुए कहा कि हमने उन्नाव से लखनऊ तक मामले की जांच करायी। एसआईटी का गठन किया और एसआईटी ने अब अपनी रिपोर्ट सौंपी है। तथ्यों और साक्ष्यों के आधार पर जो लोग दोषी पाये गये उनके खिलाफ कार्यवाही की गयी। उन्होंने कहा कि शासन की मंशा किसी को बचाने की नहीं है, हम पारदर्शी जांच चाहते है इसलिये मामले को जांच के लिये सीबीआई को ट्रांसफर करने का निर्णय लिया गया है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …