जंगली पेड़ों पर तस्करों की बज रही कुल्हाड़ी, हुआ तस्करी का सनसनीखेज खुलासा, जिम्मेदार मौन

डीएन ब्यूरो

कैंपियरगंज वन रेंज में अवैध कटान तेज हो गया है। अज्ञात तस्कर अवैध रूप से विभागीय मिलीभगत से पेड़ों पर कुल्हाड़ी बजा रहे हैं। जहां एक तरफ फर्नीचर अद्योग फल फुल रहा हैं। वहीं प्रकृति पर इसका गहरा असर पड़ रहा है।


महराजगंज:  कैंपियरगंज वन रेंज में अवैध कटान तेज हो गया है। अज्ञात तस्कर अवैध रूप से  विभागीय मिलीभगत से पेड़ों पर कुल्हाड़ी बजा रहे हैं। जहां एक तरफ फर्नीचर अद्योग फल फुल रहा हैं। वहीं प्रकृति पर इसका गहरा असर पड़ रहा है। बेशकीमती लकड़ी के पेड़ों का कटान होने के बाद भी वन विभाग के अधिकारी व कर्मचारी चैन की नींद सो रहे हैं क्योंकि अभी तक भी वन विभाग की ओर से कोई कार्रवाई अमल में नही लायी गई है।

यह भी पढ़ेंः बलिया में रेलिंग के नीचे दबकर हुई महिला की मौत

जहां इन दिनों जंगल के बेशकीमती पेड़ों पर जमकर लकड़ी चोरों का कुल्हाड़ा चल रहा है। वन विभाग के कर्मचारी व अधिकारी आंखें बंद कर मौन बैठे हुये हैं। वन क्षेत्र के घोड़सारे, जंगल जोगियाबारी, सेमराड़ाडी बीट में हरे पेड़ों की कटान तेज हो गई। पेड़ों की अंधाधुंध कटान से जहां एक तरफ वन संपदा को क्षति पहुंच रही है, वहीं सरकारी धन का दुरुपयोग भी हो रहा है। हरे पेड़ों की अवैध कटान से पर्यावरण का संतुलन भी बिगड़ रहा है। यहां के जंगल से काटी गई लकड़ी गैर जनपदों में भी जाता है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार