बम भोले के जयकारों के साथ कांवड़ यात्रा शुरू, शिवालयों में उमड़ी शिव भक्तों की भीड़

डीएन संवाददाता

लगभग 50 साल बाद पहली बार ऐसा हो रहा है कि जब सावन के पवित्र महीने की शुरूआत भोलनाथ के प्रिय दिन सोमवार से शुरू हो रहा है और सोमवार को ही इस माह की समाप्ति होगी।

 भोलनाथ की पूजा अर्चना करते   श्रद्धालु
भोलनाथ की पूजा अर्चना करते श्रद्धालु

नई दिल्ली: आज से सावन के महीने का पहला सोमवार है। इस बार सबसे शुभ बात यह है कि यह महीना सोमवार जो कि शिव जी का प्रिय दिन है, उसी दिन से शुरू हो रहा है और सोमवार के दिन ही खत्म हो रहा है। अमूमन सावन में चार सोमवार ही पड़ते हैं, लेकिन इस बार सावन महीने में पांच सोमवार पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें: बहुत दिनों बाद सावन में ऐसा संयोग, ऐसे होगी आपकी मनोकामना पूरी

आज से कांवड़ यात्रा भी शुरू हो गई और देश भर के शिव मंदिरों में भोलेनाथ के जयकारे गूंज रहे हैं।वाराणसी में सावन के पहले सोमवार को देश से लेकर विदेश तक के शिव भक्तों का जमावड़ा लगा हुआ है। वहीं काशी के शिव मंदिर में देर रात से ही भक्तों का तांता लगना शुरू हो गया है।

यह भी पढ़ें: Dynamite News LIVE : सावन के दुर्लभ संयोग में इस तरह पूरी होंगी आपकी मनोकामनाएं

बता दें  कि दूर-दूर से कांवरिये यहां श‍व के दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं। काशी के अलावा लखनऊ के मनकामेश्वर मंदिर, उज्जैन का ज्योतिर्लिंग महाकालेश्वर धाम, झारखंड का बाबा वैद्यनाथ धाम समेत अन्य श‍व मंदिरों में पूजा-पाठ हो रहा है।मंदिरों में ऊं नम: शिवाय के उद्घोष से आसपास का भी माहौल भक्तिमय हो गया है।

वाराणसी में सावन मेले को लेकर प्रशासन ने चाक-चौबंद व्यवस्था की है। वहीं जिला प्रशासन ने सावन के हर सोमवार को शहर के सभी स्कूल कालेजों को बंद रखने का निर्देश जारी किया है।

सावन के महीने में इस तरह से भोलेनाथ को प्रसन्न करें
सावन के महीने में शिवलिंग पर जल चढ़ाने से भगवान शिव के विशेष कृपा मिलती है सर्वप्रथम महादेव के अभिषेक में जल, दूध, दही, घी, शक्कर, शहद, गंगा जल, गन्ने का रस आदि का प्रयोग करें उन्हें बेलपत्र, नीलकमल, जंवाफूल कनेर, समीपत्र, दूब, कुशा, कमल, राई फूल चढ़ाकर प्रसन्न करें. धतूरा, भांग और श्रीफल चढ़ाएं।

डाइनामाइट न्यूज़ अपने पाठको के लिए हर रोज भगवान भोलेनाथ और पवित्र सावन माह से जुड़ी धार्मिक, आध्यात्मिक कथा-कहानी, लेख और शिव मंदिरों से जुड़ी खबरों की श्रृंखला की शुरूआत कर रहा है। पूरे सावन माह तक आप भोले बाबा से जुड़ी खबरें हमारे विशेष कालम सावन स्पेशल में पढ़ सकते हैं। आप हमारी वेबसाइट भी देख सकते हैंDNHindi.com

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार