VIDEO: महराजगंज में बाढ़ का कहर जारी, फरेंदा से टूटा सड़क संपर्क

डीएन संवाददाता

बाढ़ के कारण महराजगंज-फरेंदा सड़क का एक बड़ा हिस्सा पानी में डूब गया है। जिससे इस मार्ग के जरिये महराजगंज का संपर्क लगभग टूट गया है और आवागमन बाधित हो गया है।


महराजगंज: त्रिमुहानी नदी का बांध टूटने से महराजगंज-फरेंदा सड़क का एक बड़ा हिस्सा पानी में डूब गया है। जिससे इस मार्ग के जरिये महराजगंज का संपर्क लगभग टूट गया है और आवागमन बाधित हो गया है। बाढ़ के कारण यहां के लोग रातभर दहशत में रहे।

यह भी पढ़ें: महराजगंज के डीएम डाइनामाइट न्यूज़ पर LIVE: बाढ़ के कारण 5 दिन के लिए जिले के सभी स्कूल-कालेज बंद

एनडीआरएफ,एसएसबी, पीएसी20 बटालियन और स्थानीय पुलिस राहत एवं बचाव कार्यों में जुटी हुई है। अब तक 250 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया जा चुका है, जबकि सैकड़ों की तादाद में लोग अभी भी बाढ़ वाले क्षेत्रों में फंसे हुए हैं। कई स्थानों पर लोगों को खान-पान की समस्या से भी जूझना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें: DN Exclusive: तस्वीरों में देखिये महराजगंज में बाढ़ से मची तबाही

महराजगंज के सीओ सीटी सदर मुकेश कुमार सिंह ने डाइनामाइट न्यूज से बातचीत में कहा कि हम लोगों से लगातार यह अपील कर रहे हैं कि वह अपने घरों को छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर आश्रय लेने की कोशिश करें। उन्होंने कहा कि सभी बाढ़ प्रभावित लोगों की सुरक्षा के लिए समुचित प्रयास किये जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: महराजगंज बाढ़ को लेकर स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह की कांफ्रेंस

यह भी पढ़ें: महराजगंज में बाढ़ के ताजा हालात पर डाइनामाइट न्यूज़ की लाइव रिपोर्टिंग

बाढ़ के कारण महराजगंज को फरेंदा से जोड़ने वाली सड़क का बड़ा हिस्सा पानी में डूब गया है जिस कारण महराजगंज से संपर्क टूट गया है। आवागमन  बुरी तरह प्रभावित हुआ है। हालांकि कुछ अन्य जगहों से संपर्क मार्ग आंशिक रूप से प्रभावित हुआ है।

यह भी पढ़ें: संकट में महराजगंज, बाढ़ से सैकड़ों लोग बेघर, कई क्षेत्र जलमग्न

प्रशासन द्वारा ग्रामीणों के लिए जरूरी खाने-पीने का सामान मुहैया कराया जा रहा है।अगले 5 दिनों तक जिले के सभी स्कूलों-कॉलेजो को बंद रखने के निदेर्श दिये गये हैं। प्रशासन बाढ़ की स्थिति पर लगातार नजर बनाये हुए हैं।

डाइनामाइट न्यूज़ लगातार आप तक महराजगंज की बाढ़ से जुड़ी हर जानकारी पहुंचा रहा है। 9999 450 888 पर मिस्ड काल कर मोबाइल एप डाउनलोड करें। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार