अमृतसर रेल हादसे की CBI या SIT से जांच कराने के लिये याचिका दायर

डीएन ब्यूरो

अमृतसर में दशहरे के मौके पर हुए दर्दनाक रेल हादसे को लेकर जहां लोगों का आक्रोश अब भी जारी है, वहीं अब इस हादसे की सीबीआई या एसआईटी से जांच कराने के लिये एक याचिका दायर कर दी गयी है। पढ़ें, डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट

पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट (फाइल फोटो)
पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: दशहरे के मौके पर अमृतसर में हुए हृदय विदारक रेल हादसे ने पीड़ित परिजनों को जो जख्म दिये है, फिलहाल उनका भरना संभव नहीं दिखता है। इस हादसों को लेकर लोगों का आक्रोश अब भी जारी है। केंद्र द्वारा इस हादसे की जांच में हीलाहवाली करने के बाद एक शख्स ने अब इस दुर्घटना का सीबीआई या एसआईटी से जांच कराने की मांग उठाई है।

यह भी पढ़ें: VIDEO: देखिये, कैसे हुआ अमृतसर रेल हादसा, पल भर में भारी भीड़ को कुचलकर गुजर गई ट्रेन 

 

अमृतसर रेल हादसे की सीबीआई या एसआईटी जांच कराने के लिये एक शख्स द्वारा पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट में याचिका दायर की गयी है। इस याचिका में पीड़ित परिवारों को न्याय दिलाने और हादसे के सही कारणों का पता लगाने के लिये सीबीआई या एसआईटी से निष्पक्ष जांच कराने की गुहार उच्च न्यायालय से की गयी है।

यह भी पढ़ें: अमृतसर ट्रेन हादसाः गमगीन माहौल में भी आक्रोश, नम आंखों को अब भी अपनों की तलाश

 

 

इस शुक्रवार शाम को दशहरे के मौके पर हुए इस दिल दहलाने वाले रेल हादसे में लगभग 60 लोग मौत की नींद सो चुके जबकि लगभग इतने ही लोग अब भी अस्पताल में भर्ती में, जिनमें से कुछ की स्थिति गंभीर बतायी जा रही है।

यह भी पढ़ें: जानिये, अमृतसर ट्रेन हादसे में क्या हुई पांच बड़ी चूक

 

 

पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शनिवार को इस हृदय विदारक हादसे की मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दिए है। 4 हफ्ते के अंदर जांच रिपोर्ट देने को कहा गया है। जालंधर के मंडलायुक्त की अध्यक्षता में गठित तीन सदस्यीय समिति इस हादसे की जांच करेगी। दुघर्टना की जांच के लिए कैबिनेट मंत्रियों की एक तीन सदस्यीय समिति का भी गठन किया गया है।

यह भी पढ़ें: अब यहां पटरी से उतरी हाई स्पीड ट्रेन, 18 लोगों की मौत, 164 घायल

 

 

अमृतसर रेल हादसे को लेकर कई तरह की बयानबाजी सामने आई थी। रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा समेत कई नेता रेलवे का बचाव कर रहे है। उनका कहना था कि यह हादसा रेलवे के कारण नहीं हुआ तो जांच क्यों कराई जाए। रेलवे ने संबंधित ट्रेन ड्राइवर को भी दोष मुक्त करार दिया है। हादसे के बाद शनिवार और रविवार को घटनास्थल पर स्थानीय लोग ने भारी प्रदर्शन किया।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार