नेपाल में प्रेस की आजादी पर नियंत्रण लगाने वाले नये कानून का विरोध

डीएन ब्यूरो

नेपाल की मुख्य विपक्षी पार्टी नेपाली कांग्रेस ने सरकार को नयी अपराध संहिता के जरिए प्रेस की आजादी पर नियंत्रण नहीं लगाने की चेतावनी दी है। डाइनामाइट न्यूज की स्पेशल रिपोर्ट..

फाइल फोटो
फाइल फोटो

काठमांडू: नेपाल की मुख्य विपक्षी पार्टी नेपाली कांग्रेस ने सरकार को नयी अपराध संहिता के जरिए प्रेस की आजादी पर नियंत्रण नहीं लगाने की चेतावनी दी है। 

यह भी पढ़ें:अफगानिस्तान में चुनावी रैली में विस्फोट, 13 मरे, 32 घायल

दरअसल, नेपाल की कम्युनिस्ट सरकार एक नयी अपराध संहिता लेकर आई है। गोपनीय सूचना को प्रकाशित करने, बगैर इजाजत के ऑडियो रिकॉर्ड करने, या तस्वीर खींचने के लिए जेल की सजा दिये जाने का इसमें प्रावधान किया गया है।

 

यह भी पढ़ें: दो साल से नजरबंद अमेरिकी पादरी ब्रूनसन तुर्की से किए गए रिहा

पूर्व प्रधानमंत्री और नेपाली कांग्रेस (एनसी) के अध्यक्ष शेर बहादुर देउबा ने कहा, ‘‘प्रेस की आजादी पर किसी भी आधार पर नियंत्रण नहीं लगाया जाना चाहिए।’’ उन्होंने नेपाली पत्रकारों को किसी भी तरह की चुनौती का सामना करने के लिये तैयार रहने को कहा है।

चितवन जिला में शुक्रवार को नेपाल प्रेस यूनियन द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि एनसी प्रेस की आजादी में सरकार के किसी भी तरह के दखल को स्वीकार नहीं करेगी। (भाषा)
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …