दिल्ली हिंसा पर लोकसभा में विपक्ष का हंगामा, कार्यवाही कल के लिए स्थगित

डीएन ब्यूरो

दिल्ली में पिछले दिनों हुई हिंसा पर चर्चा कराने की मांग को लेकर विपक्षी सदस्यों ने मंगलवार को लोकसभा में जोरदार हंगामा किया जिसके कारण सदन की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी गयी।

लोकसभा
लोकसभा

नई दिल्ली: दिल्ली में पिछले दिनों हुई हिंसा पर चर्चा कराने की मांग को लेकर विपक्षी सदस्यों ने मंगलवार को लोकसभा में जोरदार हंगामा किया जिसके कारण सदन की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी गयी।

सदन की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, द्रविड़ मुनेत्र कषगम समेत तमाम विपक्षी दलों ने दिल्ली हिंसा पर चर्चा कराने की मांग पर हंगामा करने लगे।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि सर्वदलीय बैठक में यह फैसला लिया गया कि कोई भी सदस्य किसी की सीट पर नहीं जाएगा। इसका जो भी उल्लंघन करेगा उसे वर्तमान पूरे सत्र से निलंबित कर दिया जाएगा। यह नियम सत्ता और विपक्ष दोनों दलों पर लागू होगा। उन्होंने कहा कि सदन सबकी सहमति और सहयोग से चलता है।

कांग्रेस के नेता सदन अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि हम लोग आम लोगों के नुमाइंदे हैं इसलिए उनसे जुड़े मुद्दों को सदन में उठाना उनका अधिकार है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में जिस प्रकार की हिंसा हुई है और लगातार मरने वालों की संख्या बढ रही है, उस पर खामोश कैसे रह सकते हैं।

तृणमूल कांग्रगेस के सुदीप बंदोपाध्याय ने कहा कि विपक्ष की ओर से उठाये गये गंभीर मुद्दों पर भी सरकार की ओर से जब कोई जवाब नहीं मिलता है तभी हंगामा जैसी स्थिति बन जाती है। सरकार को विपक्ष की बातों को सुनना चाहिए और उसका समुचित जवाब देना चाहिए।

संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि सदन में शांति बनाने की जरूरत है तभी किसी विषय पर चर्चा की जा सकती है। सर्वदलीय बैठक में सदन को लेकर जो फैसला किया गया उसका स्वागत करते हैं। दिल्ली से संबंधित विषय शून्यकाल में उठाना चाहिए। इसके बाद विपक्षी दलों ने हंगामा शुरु कर दिया।

श्री बिरला ने सदस्यों को शांत करते हुए कहा कि सदन में प्लेकार्ड लेकर नहीं आना है। उन्होंने सख्त लहजे में कहा कि आप लोग तय कर लें कि सदन अब प्लेकार्ड से चलेगा। उसके बाद हंगामा बढ गया। उसके बाद अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही दोपहर बारह बजे तक के लिए स्थगित कर दी। (वार्ता)













संबंधित समाचार