राम मंदिर केस: मध्‍यस्‍थता पैनल ने Supreme Court को सौंपी सीलबंद रिपोर्ट, 10 अगस्‍त को दिल्‍ली में जुटेंगे साधु

डीएन ब्यूरो

आज राम मंदिर मामले में गठित मध्यस्थता पैनल सुप्रीम कोर्ट में सीलबंद लिफाफे में अपनी फाइनल रिपोर्ट सौंप दी है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई में सुप्रीम कोर्ट की एक बेंच 2 अगस्त को राम मंदिर मामले की सुनवाई करेगी। डाइनामाइट न्‍यूज़ पर पढ़ें पूरी खबर..

बायें रामजन्‍म भूमि व दायें सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: सुप्रीम कोर्ट में चल रहे राम मंदिर के मुद्दे (Ram Mandir Case) में गठित मध्यस्थता पैनल (Mediation panel) आज सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। रिपोर्ट सीलबंद लिफाफे में दी जाएगी। जिसके बाद 2 अगस्‍त से एक बेंच मामले की सुनवाई करेगी। वहीं राम मंदिर निर्माण के लिए संत समाज नए सिरे से मोर्चा 10 अगस्‍त से खोलेगा।

यह भी पढ़ें: अयोध्या विवाद में सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, तीन सदस्यीय मध्यस्थता कमेटी का किया गया गठन..

 राम मंदिर  मामले में सुप्रीम कोर्ट ने 18 जुलाई को मध्यस्थता कमेटी को हिंदू और मुस्लिम समुदायों के बीच सहमति बनाने के लिए 31 जुलाई तक का समय दिया था। इस दौरान दोनों पक्षों को बातचीत के माध्‍यम से कोई सर्वमान्‍य हल निकालने का प्रयास करना था। जिसकी मियाद आज पूरी हो गई है। इसीलिए मध्‍यस्‍थता कमेटी ने आज अपनी रिपोर्ट सौंप दी है।

यह भी पढ़ें: अयोध्या मामले में मध्यस्थता की सुनवाई पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला रखा सुरक्षित..सभी पक्षों से मांगे नाम

सुप्रीम कोर्ट ने पैनल की रिपोर्ट को देख लिया है लेकिन अभी तक उसके बारे में कोई खुलासा नहीं किया है। साथ ही 2 अगस्‍त को होने वाली सुनवाई में रोजाना सुनवाई आदि मसलों पर विचार किया जा सकता है साथ ही मुद्दे और सुनवाई की रूपरेखा क्‍या होगी यह भी तय किया जा सकता है। 

यह भी पढ़ें: अयोध्या विवाद पर केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, सुप्रीम कोर्ट में राम जन्मभूमि लौटाने की डाली अर्जी

यह बेंच कर रही है सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता और जस्टिस एसए बोबड़े, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण व जस्टिस एसए नजीर की सदस्यता वाली संवैधानिक बेंच कर रही है।

दिल्‍ली में लगेगा साधु संतों का जमावड़ा

10 अगस्त को राजधानी दिल्‍ली के एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर में देशभर के संतों का जमावड़ा लगेगा। इस दौरान साधु संत राम मंदिर विवाद की सुप्रीम कोर्ट में जल्द सुनवाई के लिए पंचायत नहीं निर्णय चाहिए का नारा देंगे। 

गौरतलब है कि पहले त्वरित सुनवाई पर टालमटोल हुआ था जिसके बाद मध्यस्थता कमेटी बनाकर सुनवाई को टाल दिया गया था। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार