महराजगंज: सहकारी समिति में लटका ताला, कहीं बोरों की कमी से नहीं तौला जा रहा किसानों का गेहूं.. औने-पौने दामों पर बेचने को मजबूर

डीएन ब्यूरो

गेहूं की खरीद के लिए सहकारी समितियों के संबध में शासन प्रशासन की ओर से ढेरों दावे किए जा रहे हैं। जबकि जमीनी हकीकत दावों से बिल्‍कुल उलट तस्‍वीर पेश करती है। कहीं बोरों की समस्‍या है तो किसी समिति पर अभी तक ताले लटके हुए हैं।


महराजगंज: जिले के विकास खंड मिठौरा क्षेत्र के कई सहिकारी समितियों में तौल नहीं हो पा रही है। कुछेक जगहों पर ताला लटका हुआ है। वहीं जहां समिति खुली हुई है वहां बोरों की कमी के चलते किसान दर-दर भटक रहा है।

यह भी पढ़ें: महराजगंज: फरेंदा में घर से लापता व्यापारी का जगंल में मिला शव, हत्या की आशंका.. इलाके में हड़कंप

महराजगंज के पनेवा पनेई बैजनाथपुर के साधन सहकारी समिति में पिछले दो तीन दिन से बोरों की कमी के कारण गेहूं की खरीद रुकी हुई है। किसानों को प्राइवेट कांटों पर अपना गेहूं किसी तरह तौलवाना पड़ रहा है। इस संबंध में समिति के कर्मचारी भी कोई ठोस जानकारी नहीं दे पा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: बदहाल रास्‍तों से जनता की कमर टूटे या हाथ पैर, नेता व अधिकारियों को नहीं है फिक्र

वहीं महराजगंज के बैजनाथपुर झनझनपुर की सहकारी समिति पर ताले ही लटके हुए हैं। किसान अपना गेहूं लेकर आते है और लौटकर वापस चले जाते हैं। 

यह भी पढ़ें: लखनऊ-आगरा एक्‍सप्रेस-वे पर भीषण हादसा, चलती बाइक में लगी आग

गौरतलब है कि इस समय गेंहूं की कटाई का समय लगभग अपने पूर्ण होने वाला है। बहुत से किसान अपना गेहूं सहकारी समिति पर बेचते हैं लेकिन इन सरकारी अव्‍यवस्‍थाओं के चलते किसान इधर-उधर भटक कर अपने अनाज को औने-पौने दाम में बेचने को मजबूर हो रहा है।

यह भी पढ़ें: महराजगंज में ग्रामीणों ने सरकारी राशन पकड़ा, सूचना देकर किया पुलिस के सुपुर्द













संबंधित समाचार