महराजगंज : ग्रामीणों ने सरकारी राशन पकड़ा, सूचना देकर किया पुलिस के सुपुर्द

डीएन ब्यूरो

ग्रामीणों का आरोप कोटेदार सरकारी राशन बेचने ले जा रहा था। जिसकी सूचना पुलिस को दी गई थी। वहीं पुलिस ने कहा है कि मामले की विभागीय जांच कराई जाएगी और जो भी दोषी होगा उस पर कार्यवाही की जाएगी।

राशन पकड़े जाने के बाद कोठीभार थाने पर खड़े लोग
राशन पकड़े जाने के बाद कोठीभार थाने पर खड़े लोग

महराजगंज: महराजगंज के सिसवा विकासखंड के गांव रजवल मदरहा में शुक्रवार को शाम चार बजे ग्रामीणों ने 23 बोरी लदी सरकारी गेहूं पकड़ लिया। ग्रामीणों ने डायल-100 के माध्‍यम से पुलिस को इसकी सूचना दी। ग्रामीणों ने पुलिस को सरकारी राशन सौंप दिया है। वहीं ग्रामीणों का आरोप है कि कोटेदार द्वारा यह गेहूं बेचने के लिए भेजा जा रहा था।

महराजगंज लोकसभा सीट के लिये सपा सरकार के पूर्व मंत्री सुशील कुमार टिबड़ेवाल ने दाखिल किया नामांकन-पत्र

महराजगंज के सिसवा विकासखंड के रायपुर गांव के चौराहे के पास शुक्रवार को रजवल मदरहा निवासी धर्मेन्द्र यादव, प्रेम पासवान, दिनेश पासवान, राकेश यादव, सोनू पासवान, अरविंद पासवान, विकास सिंह, विपिन कुमार, जोगेन्द्र यादव आदि ने एक बैलगाड़ी पर लदे जा रहे सरकारी बोरों को पकड़ लिया। इस दौरान ग्रामीणों ने डायल-100 के माध्‍यम से इसकी सूचना दे दी। जिस पर मौके पर पहुंचे हेड कांस्टेबल जितेंद्र सिंह और कांस्टेबल राणा प्रताप बैलगाड़ी को कब्जे में ले कर कोठीभार थाना ले गए। 

महराजगंज में तेज रफ्तार ट्रक अनियंत्रित होकर पलटा..गाड़ी पूरी तरह से क्षतिग्रस्त

इस दौरान ग्रामीणों ने यह भी आरोप लगाया कि यह सरकारी राशन है जो ग्रामीणों को बांटने के लिए आया हुआ था। सरकारी राशन को कोटेदार बेचने के लिए ले जा रहा था। जबकि इस संबंध में कोटेदार कन्हैया का कहना है कि यह गेहूं मेरे घर का है। इसको बेचने ले जा रहे थे। गांव वालों का आरोप निराधार है।

सपा सरंक्षक मुलायम सिंह यादव की तबियत बिगड़ी, लखनऊ के पीजीआई में भर्ती

मामले में कोठीभार थानाध्यक्ष सर्वेश कुमार सिंह ने बताया है कि कोटेदार को कब्जे में लिया गया है। मामले की विभागीय जांच कराई जाएगी और जो भी दोषी होगा उस पर कार्यवाही की जाएगी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार