पनियरा गोली कांड: तेज प्रताप यादव की हत्या के पीछे प्रेम प्रसंग या फिर लकड़ी माफियाओं से दुश्मनी?

डीएन ब्यूरो

महराजगंज जिले के पनियरा थाना क्षेत्र के ग्राम सभा गोनहा के पूर्व ग्राम प्रधान तेज प्रताप यादव की इलाज के दौरान आखिरकार मौत हो गयी। अब जगह-जगह हत्या के कारणों को लेकर चर्चाओं और अफवाहों का दौर जारी है। डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..

तेज प्रताप यादव (फाइल फोटो)
तेज प्रताप यादव (फाइल फोटो)

महराजगंज: पनियरा थाना क्षेत्र के ग्राम गोनहा के पूर्व प्रधान पति तेज प्रताप यादव की हत्या के बाद से पुलिस हवा में तीर चला रही है। वारदात को 60 घंटे से अधिक बीत चुके हैं लेकिन पुलिस के जांच नतीजे सिफर हैं, जिससे लोगों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। 

यह भी पढ़ें: महराजगंज: पनियरा गोलीकांड में पूर्व प्रधान प्रतिनिधि तेजप्रताप यादव की इलाज के दौरान मौत, मचा कोहराम

बीते 24 जुलाई को रात 11.30 बजे अपने घर के बरामदे में सोये पूर्व ग्राम प्रधान पति तेज प्रताप यादव को तीन अज्ञात बदमाशों ने पनियरा जाने का रास्ता पूछा और गोली मार कर फरार हो गए। इसके बाद आनन-फानन में परिजनों ने इलाज के लिए बीआरडी मेडिकल कालेज में भर्ती कराया। इसके बाद गोरखपुर के एक निजी अस्पताल में भी इलाज हुआ।
हालत में कोई सुधार न होने पर पीजीआई लखनऊ रेफर किया गया, जहां रास्ते में ही उन्होंने दम तोड़ दिया। 

यह भी पढ़ें: महराजगंज: पूर्व प्रधान को बदमाशों ने मारी गोली, हालत गंभीर, इलाके में दहशत

 

यह भी पढ़ें: DN Exclusive महराजगंज: गोली लगने के बाद भी पूर्व प्रधान प्रतिनिधि ने नहीं मानी हार, जल्द होगी बदमाशों की पहचान

किसकी आंखों में खटक रहे थे तेज प्रताप

क्या हत्या का कारण गंवई राजनीति है या फिर कोई प्रेम प्रसंग? अथवा लकड़ी माफियाओं के साथ कोई रंजिश? ये ऐसे कारण हैं जिन पर क्षेत्रीय लोग चर्चा कर रहे हैं। कहा जा रहा है कि पिछले दिनों उन्होंने कुछ लोगों की लकड़ियां पकड़वायी थीं जिसके बाद कुछ लोग उन्हें सबक सिखाना चाहते थे। अब देखना पुलिस कब तक इस जघन्य घटना का खुलासा कर पाती है?

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार