DN Exclusive महराजगंज: गोली लगने के बाद भी पूर्व प्रधान प्रतिनिधि ने नहीं मानी हार, जल्द होगी बदमाशों की पहचान

डीएन संवाददाता

पनियरा थाना क्षेत्र के गोंनहा में पूर्व ग्राम प्रधान प्रतिनिधि तेजप्रताप यादव को बीती रात आखिर किसने और क्यों गोली मारी? इस सवाल का जबाव जल्द ही मिलने वाला है। इस मामले का दूसरा पहलू भी है.. वह यह कि इस घटना में गोली लगने के बाद भी तेजप्रताप यादव ने हार नहीं मानी और उनके इसी साहस के कारण उनकी जान भी बची। एक्सक्लूसिव रिपोर्ट

प्रधान को गोली मारने की वारदात से सहमे ग्रमीण
प्रधान को गोली मारने की वारदात से सहमे ग्रमीण

पनियरा (महराजगंज): पनियरा थाना क्षेत्र के गोंनहा में बीती रात पूर्व ग्राम प्रधान प्रतिनिधि तेजप्रताप यादव को आखिर किसने गोली मारी, यह सवाल यहां के हर आदमी की जुबान पर छाया हुआ है। इसके अलावा इस मामले में प्रधान की हिम्मत को सभी लोग दाद दे रहे हैं। दरअसल प्रधान ने गोली लगने के बाद खुद ही ग्रामीणों को आवाज देकर बुलाया और खुद पर गोली लगने की जानकारी देते हुए जल्द अस्पताल ले जाने को कहा। 

 

 

प्रधान को मरा हुआ समझकर भागे बदमाश

जानकारी के मुताबिक बदमाशों ने सोते हुए प्रधान को जगाया और उनसे रास्ता पूछा। इसी दौरान मौका देखते ही उनके उपर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दी गयी। गोली लगते ही प्रधान नीचे गिर गये। प्रधान को मरा हुआ समझकर बदमाश वहां से फरार हो गये। प्रधान जब सुनिश्चित हो गये कि बदमाश भाग चुके हैं तो उन्होंने साहस दिखाते हुए ग्रमीणों को आवाज दी और खुद को अस्पताल ले जाने को कहा।

 

 

..तो हो सकता था जान को खतरा

प्रधान ने कहा कि ‘मुझे गोली मारी गयी है, मुझे तुरंत अस्पताल ले जाओ’। प्रधान की यह बात सुनते ही उनका परिवार और वहां मौजूद लोग सदमे में आ गये। आनन-फानन में प्रधान को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया। प्रधान ने यदि खुद पहल न की होती तो उनकी जान को खतरा हो सकता था। 

तीन लोगों ने मारी गोली

डाइनामाइट न्यूज़ टीम जब इस मामले की तफ्तीश के लिये मौका-ए-वारदात पर पहुंची तो वहां मौजूद महिला चंदा देवी ने बताया कि ग्राम प्रधान प्रतिनिधि को गोली मारने वाले तीन लोग थे। गोली मारकर तीनों फरार हो गये। 

कहीं लकड़ी तस्करों का हाथ तो नहीं?

आखिर प्रधान प्रतिनिधि को गोली मारी किसने? इस सवाल के जबाव ने कुछ लोगों ने दबी जुबान से बताया कि इसमें लकड़ी तस्करों का हाथ हो सकता है, क्योंकि प्रधान प्रतिनिधि ने कुछ समय पहले ही कुछ लकड़ी तस्करों को गिरफ्तार करवाया था।

जल्द होगी बदमाशों की गिरफ्तारी 

बहरहाल मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में उपचाराधीन प्रधान प्रतिनिधि की डॉक्टरों ने गोलियां निकाल दी है और फिलहाल उन्हें खतरे से बाहर बताया जा रहा है। अब पुलिस पूछताछ में इस मामले का खुलासा खुद प्रधान प्रतिनिधि ही बेहतर तरीके से कर सकेंगे कि उनको किसने गोली मारी। जाहिर है कि प्रधान प्रतिनिधि ने बदमाशों को जरूर पहचाना होगा। पुलिस भी मामले को सुलझाने में लगी है। ऐसे में प्रधान प्रतिनिधि का बयान पुलिस के लिये काफी महत्वपूर्ण है। उम्मीद जतायी जा रही है कि इस मामले से जल्द पर्दा उठेगा और बदमाशों की गिरफ्तारी होगी।    
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार