लखनऊ: अमीनाबाद के दुकानदारों ने गली-गली जाकर मांगी भीख, जानिये क्या है व्यापारियों की मजबूरी

डीएन ब्यूरो

कोरोना महामारी ने अमीनाबाद ks ऐतिहासिक बाजार के दुकानदारों को भीख मांगने को मजबूर कर दिया है। इस बाजार के पटरी दुकानदारों ने मंगलवार को गली-गली जाकर भीख मांगी। डाइनामाइट न्यूज रिपोर्ट..


राजधानी: लखनऊ के अमीनाबाद बाजार का एक खास और प्राचीन इतिहास रहा है। नवाबों के शहर लखनऊ आने वाला हर व्यक्ति अमीनाबाद बाजार में खरीदारी का मौका जरूर ढूंढता है। लेकिन कोरोना महामारी ने इस ऐतिहासिक बाजार के दुकानदारों के सामने रोजी-रोटी पर बड़ा और अभूतपर्व संकट खड़ा हो गया है। यहां के पटरी दुकानदारों ने मंगलवार को भीख मांगकर अनोखे तरीके से प्रदर्शन किया। 

गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण के चलते लॉकडाउन में सभी बाजारों को बंद कर दिया गया था लेकिन अब अनलॉक के तहत बाजारों को खोला जा चुका है। लेकिन बाजार खुलने के बावजूद भी कोरोना के कारण इन दुकानदारों को पटरी पर दुकान लगाने की इजाजत नहीं मिली है। 

अमीनाबाद के दुकानदार प्रशासन को अपनी समस्याओं से लगातार अवगत करा रहे हैं परंतु अभी तक कोई समाधान नहीं निकला। अब शासन तक अपनी आवाज पहुंचाने के लिये इन दुकानदारों ने आज सांकेतिक भीख मांगकर प्रदर्शन किया।     

भीख मांगकर प्रदर्शन कर रहे अमीनाबाद के इन पटरी दुकानदारों को हालांकि पुलिस ने पहले समझाने का प्रयास किया।  मगर उनका कहना है कि उन्होंने कई बार नगर आयुक्त, डीएम समेत दूसरे अफसरों को पत्र देकर अपनी समस्या दूर कराने  का अनुरोध किया। मगर जब कोई सुनवाई नही हुई। तब उन्हे अपना परिवार चलाने के लिए भीख मांगने पर मजबूर होना पङा। 

गौरतलब है की कोरोना महामारी के कारण सरकार के आदेश से सभी दुकानों को बंद करा दिया गया था। अब जब प्रशासन के दुकानों को फिर से खोले जाने की इजाजत मिली। उसके बाद दुकानें तो खुलने लगी। मगर पटरी पर दुकान लगाने वालों को स्थायी दुकानदारों ने उनकी दुकाने नही लगाने दी। वहीं प्रशासन ने भी पटरी दुकानदारों को दुकाने लगाने से मना कर दिया।
 













संबंधित समाचार