कुशीनगर: पीएनबी बैंक में ग्राहक के खाते से फर्जी निकासी का खुलासा, 4 गिरफ्तार

डीएन संवाददाता

सलेमगढ़ स्थित पंजाब नेशनल बैंक से गत 5 दिन पहले उपभोक्ता संतोष शर्मा के खाते से गायब हुए 3 लाख 95 हजार रुपये मामले का तरयासुजान पुलिस ने खुलासा कर दिया जिसमें युवती समेत 4 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। डाइनामाइट न्यूज की रिपोर्ट में पढ़ें क्या है पूरा मामला..

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी

कुशीनगर: तरयासुजान थाना क्षेत्र के बसडीला गुनाकर निवासी संतोष शर्मा पुत्र राजवंशी शर्मा के खाते से अज्ञात व्यक्ति द्वारा 3 लाख 95 हजार रुपये का निकासी कर लिया गया था। इस बात का पता तब चला जब बीते दिनों त्योहार के अवसर पर संतोष घर आया तो पासबुक छपवाने के लिए बैंक गया। तब उसे पता चला कि उसके खाते से रुपए गायब है। पुलिस ने आरोपियों के पास से 75 हजार रूपये, एक मोटरसाइकिल,एक स्कूटर, दो पासबुक, दो एटीएम, चार मोबाइल फोन बरामद किये हैं।

यह भी पढ़ें: कुशीनगरः स्टिंग ऑपरेशन से लेखपाल की काली करतूतों का हुआ पर्दाफाश.. नौकरी नहीं हो रही दलाली 

मामले की जानकारी देत क्षेत्राधिकारी आरके तिवारी

ग्राहक को पता लगने बाद वह बेसूध इधर उधर रोने लगा जिसके बाद में लोग बैंक के खिलाफ आक्रोशित हो गये। तब से रोज ही बैंक में बवाल हो रहा था। धीरे-धीरे लोगों का आक्रोश पुलिस के प्रति भी बढ़ गया। 3 दिन पहले ग्रामीणों ने बैंक का घेराव कर जमकर नारेबाजी की थी। जिसके बाद में पुलिस ने आनन-फानन में शक के आधार पर दो को गिरफ्तार कर लिया था। पूछताछ के बाद गिरफ्तार आरोपियों ने सच बोलकर अपना जुर्म कुबूल कर लिया।

यह भी पढ़ें: खुलेआम गुंडागर्दी LIVE: सपा के पूर्व मंत्री राधेश्याम सिंह और भाजपा विधायक पवन केडिया भिड़े

गिरफ्तार किए गए आरोपियों में बैंक का प्राईवेट चपरासी सुमन्त कुमार पुत्र अवधेश निवासी छावनीपुर सलेमगढ, दीपा मगर पुत्री दिलीप मगर जो आर्केस्ट्रा में काम करती है निवासी बारीबासा थाना भक्ति नगर जिला न्यू जलपाईगुड़ी पश्चिम बंगाल, सोनू पटेल पुत्र सुरेन्द्र पटेल व अमित पटेल पुत्र मुकेश पटेल निवासी छावनीपुर सलेमगढ ने घटना को अंजाम दिया था। पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार