नोटबंदी के दो साल : BJP मना रही जश्न..कांग्रेस सड़कों पर करेगी प्रदर्शन

डीएन ब्यूरो

8 नवंबर 2016 का वो दिन जब देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की घोषणा की थी तो इससे पूरा देश अचानक से हक्का-बक्का रह गया था। आज नोटबंदी की दूसरी सालगिरह है, केंद्र सरकार जहां इसके सकारात्मक आंकड़े प्रस्तुत कर इसका जश्न मना रही हैं वहीं कांग्रेस और वामदल इसकी घोर निंदा कर रहे हैं। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट में पढ़ें नोटबंदी को लेकर किसने क्या कहा

बैंकों के बाहर ऐसे उमड़ा था हुजूम (फाइल फोटो)
बैंकों के बाहर ऐसे उमड़ा था हुजूम (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः केंद्र सरकार की नोटबंदी की आज दूसरी सालगिरह है। आज ही के दिन 8 नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की घोषणा की थी। पीएम की इस घोषणा के बाद इसी दिन से ही 500 रुपये और एक हजार रुपये के नोट चलन से बाहर हो गये थे। पीएम मोदी की इस घोषणा से पूरे देश में अफरा-तफरी मच गई थी। तब रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने 500 रुपये के नये नोट सर्कुलेशन में लाये वहीं 1 हजार रुपये को पूरी तरह से खत्म कर इसकी जगह 2 हजार के नये नोट चलन में आये।    

 

कांग्रेस करेगी प्रदर्शन 

 

आज नोटबंदी के इन दो सालों में सरकार जहां अपने आंकड़े पेश कर इसका जश्न मनाने में लगी है वहीं विपक्षी दल नोटबंदी से देश को हुए नुकसान के आंकड़े गिनाते नहीं थक रहे हैं। चाहे कांग्रेस हो या वाम दल हर कोई सरकार के इस कदम की कड़ी निंदा करने में लगा है। आइए जानते हैं नोटबंदी के दो साल पूरे होने पर किसने क्या कहा।

1.पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने नोटबंदी के दो साल पूरे होने पर वीरवार को नरेंद्र मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों पर निशाना साधते हुये कहा कि अर्थव्यवस्था की तबाही वाले इस कदम का असर अब स्पष्ट हो चुका है। नोटबंदी से देश का हर व्यक्ति प्रभावित हुआ है।    

 

 

2. मनोहन सिंह ने कहा कि मोदी सरकार को अब ऐसा कोई आर्थिक कदम नहीं उठाना चाहिये जिससे अर्थव्यवस्था के संदर्भ में अनिश्चितता की स्थिति पैदा हो। उन्होंने कहा कि नोटबंदी से हर कोई प्रभावित हुआ, चाहे वह किसी भी उम्र का हो। हर किसी पर इसका असर पड़ा है, सिंह ने कहा कि देश के मझोले और छोटे कारोबार अब भी नोटबंदी की मार से उबर नहीं पाये हैं। 

   

 

 

3. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने ट्वीट कर नोटबंदी के फैसले को गलत ठहराया है। ममता ने ट्वीट कर लिखा कि नोटबंदी आपदा की आज दूसरी सालगिरह है। इसे लागू करने के वक्त मैंने इसके दुष्परिणाम बताये थे। अब प्रसिद्ध अर्थशास्त्री, आम लोग और विशेषज्ञ भी मेरी कही बातों पर सहमति जता रहे हैं। ममता ने ट्वीट के साथ ही #DarkDay लिखा है, यह ट्विटर पर टॉप ट्रेंड कर रहा है। 

4. कांग्रेस ने नोटबंदी की सालगिरह पर देशभर में विरोध प्रदर्शन का फैसला लिया है। कांग्रेस शुक्रवार को राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन करेगी। पार्टी ने कहा है कि अर्थव्यवस्था को बर्बाद और तहस- नहस करने के लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लोगों से माफी मांगनी चाहिये।     

 

 

 

5. कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने भी नोटबंदी को तुगलकी फरमान कहकर इसे देश की अर्थव्यवस्था को पूरी तरह से बर्बाद करने वाला कदम करार दिया है। तिवारी का कहना है कि दो साल पहले प्रधानमंत्री ने राष्ट्र को संबोधित करते हुये  लगभग 16.99 लाख करोड़ रुपये मूल्य की मुद्रा को चलन से बाहर कर दिया। इस तुगलकी फरमान को लेकर जो तीन कारण दिये गये वो थे- इससे काले धन पर रोक लगेगी, जाली मुद्रा चलन से बाहर हो जायेगी, आतंकवाद को वित्तीय सहायता मिलनी बंद हो जायेगी। जबकि आज दो साल बाद हकीकत ये सामने आई है कि इनमें से कोई भी लक्ष्य पूरा नहीं हो पाया।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)