एशियन गेम्स में तीन गोल्ड से चूका भारत, तीन सिल्वर से ही होना पड़ा संतोष

डीएन ब्यूरो

एशियन गेम्स का आज 10वां दिन है। भारत के लिये मंगलवार की शुरूआत काफी मंगलमय रही, और दो रजत पदक जीते। भारतीय कम्पाउंड महिला तीरंदाज़ी टीम के अलावा पुरूष टीम ने भी तीरंदाजी स्पर्धा में रजत पदक जीता। इन खेलों में भारत का तीरंदाज़ी में यह पहला पदक भी है। गोल्ड मेडल के लिये खेलीं शटलर पीवी सिंधु को भी सिल्वर से संतुष्ट करना पड़ा। एशियन गेम्स पर डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट

भारतीय कम्पाउंड महिला तीरंदाज़ी टीम
भारतीय कम्पाउंड महिला तीरंदाज़ी टीम

जकार्ता:  एशियन गेम्स में भारतीय कम्पाउंड महिला तीरंदाज़ी टीम को कोरिया के खिलाफ तीरंदाजी स्पर्धा के फाइनल में 228-231 से पराजित होने पर रजत पदक से संतोष करना पड़ा। भारत ने मंगलावार को दो सिल्वर जीते। इन खेलों में भारत का तीरंदाज़ी में यह पहला पदक भी है। महिला टीम के अलावा पुरुष टीम ने भी तीरंदाज़ी स्पर्धा में रजत पदक जीता।

मंगलवार को भारतीय शटलर पीवी सिंधु से गोल्ड मेडल की उम्मीद जताई जा रही थी लेकिन वह फाइनल मुकाबले में ताइ जू यिंग से हार गयी और सिल्वर से संतोष करना पड़ा। 

एशियन गेम्सः घुड़सवारी में भारत को मिले दो रजत, खिलाड़ियों से और पदकों की उम्मीद

मुस्कान किरण, मधुमिता कुमारी और ज्योति सुरेखा की भारतीय महिला कम्पाउंड तीरंदाज़ी टीम ने कोरियाई टीम को कड़ी टक्कर दी और पहला सेट 59-57 से अपने नाम किया, लेकिन दूसरे सेट में वह दो अंक पिछड़कर 56-58 से हार गयी। तीसरा सेट भी रोमांचक रहा जिसमें दोनों टीमें 58-58 की बराबरी पर रहीं।

तीरंदाज़ी स्पर्धा चौथे निर्णायक सेट में हालांकि कोरियाई टीम काफी आत्मविश्वास में दिखाई दी और उसने शुरूआत में ही दो परफेक्ट 10 के साथ 20-0 की बढ़त बना ली। भारतीय खिलाड़ी मुस्कान किरण ने पहले दो तीरों पर 9-9 के शॉट लगाये। 

एशियन गेम्स: बैडमिंटन मुकाबले में गोल्ड से चूकी सायना, कांसा से करना पड़ा संतोष

हालांकि तीसरे शॉट पर परफेक्ट 10 से भारत को कुछ राहत मिली लेकिन अगले दो तीरों पर 8 और 9 के शॉट से वह स्वर्ण पदक से दूर हो गया। आखिरी तीर पर ज्योति सुरेखा ने 10 का स्कोर किया और भारतीय टीम यह सेट 55-58 से हार कर स्वर्ण गंवा बैठी।













संबंधित समाचार