एशियन गेम्स: बैडमिंटन मुकाबले में गोल्ड से चूकी सायना, कांसा से करना पड़ा संतोष

डीएन ब्यूरो

18वें एशियाई खेलों में सोमवार को बैडमिंटन स्पर्धा के महिला एकल सेमीफाइनल में भारत की सायना नेहवाल को कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा। सायना गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों की चैंपियन रह चुकी है, ऐसे में उनसे हर कोई गोल्ड की उम्मीद कर रहा था। डाइनामाइट न्यूज़ की स्पेशल रिपोर्ट..

सायना नेहवाल
सायना नेहवाल

जकार्ता: गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों की चैंपियन भारत की सायना नेहवाल को 18वें एशियाई खेलों में सोमवार को बैडमिंटन स्पर्धा के महिला एकल सेमीफाइनल में हार के बाद कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा। सभी उनसे गोल्ड की उम्मीद लगाये बैठे थे।

एशियन गेम्स में भारत को मिला एक और गोल्ड, टेनिस डबल्स और रोइंग में शानदार प्रदर्शन

शीर्ष वरीय चीनी ताइपे की ताई जू यिंग के हाथों सायना को लगातार गेमों में 17-21, 14-21 से शिकस्त झेलनी पड़ी। ताई ने भारतीय शटलर के खिलाफ बढ़िया खेल दिखाया और 18-14 की बढ़त और लगातार चार अंक लेकर 21-17 से पहला गेम जीता। 

सायना को मैच में कई बार गलत फूटवर्क का खामियाजा भी भुगतना पड़ा और वह 10-11 से पिछड़ गयीं। हालांकि 10वीं रैंक भारतीय खिलाड़ी ने लंबी रैली खेलते हुये जू यिंग के खिलाफ लगातार अंक जुटाये। वह मैच में बने रहने के लिये एक एक अंक जुटाने को जूझती दिखीं। उन्होंने कई बार स्कोर बराबरी का प्रयास किया लेकिन गलतियों से वह 14-21 से गेम और 36 मिनट में मैच गंवा बैठीं।

एशियन गेम्सः स्क्वॉश में दीपिका व जोशना का टूटा सपना, कांस्य से ही करना पड़ा संतोष  

सेमीफाइनल मुकाबला गंवाने के साथ उन्हें कांस्य से संतोष करना पड़ा। हालांकि सायना एशियाई खेलों में महिला एकल में पदक जीतने वाली पहली खिलाड़ी बन गयी हैं। उनके बाद अब सारी निगाहें एकल की अन्य खिलाड़ी और ओलंपिक रजत विजेता पीवी सिंधू पर लग गयी हैं।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार