लखनऊ: राज्यपाल राम नाईक ने 5 साल पूरे होने पर गिनाई राजभवन की उपलब्धियां,कहा-अब तक जुड़ चुके हैं हजारों लोग

डीएन ब्यूरो

यूपी के राज्यपाल राम नाईक ने अपने कार्यकाल के 5 साल पूरे होने पर राजभवन की उपलब्धियों के बारे में बताया। उन्होनें कहा की 22 जुलाई 2014 से अब तक राजभवन के दरवाजे प्रदेश के सभी आम लोगों के लिए खुले रहें। गौरतलब है कि 22 जुलाई 2014 को ही राज्यपाल राम नाईक प्रदेश के नए राज्यपाल के तौर पर शपथ ली थी। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर..


लखनऊ: यूपी के राज्यपाल राम नाईक में 5 साल पूरा होने पर राजभवन की उपलब्धियों के बारे में बताते हुए कहा कि 5 सालों में अब तक उनसे 30,225 लोगों ने व्यक्तिगत रूप से राजभवन में भेट की है। वहीं अब तक 21,9643 शिकायती पत्र राजभवन को प्राप्त हुए हैं। 

यह भी पढ़ें: गोवंश रखरखाव में लापरवाही को लेकर मुख्यमंत्री योगी ने दिखाई सख्ती, 8 अधिकारियों को किया निलंबित

उन्होंने कहा कि राज्यपाल के तौर पर प्रदेश के सभी राजनीतिक दलों से अच्छे संबंध रख एक अच्छा माहौल बनाने की कोशिश की है। कुष्ठ रोगियों के लिए किए गए अपने प्रयासों के बारे में बताते हुए राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि कुष्ठ रोगियों के निर्वाह के लिए ₹300 मासिक से बढ़ाकर ढाई हजार रुपए किए जाने का फैसला उन्हीं की सलाह पर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लिया था। वहीं राज्यपाल प्रदेश के वर्तमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ में प्रदेश के 3791 कुष्ठ रोगियों को चिन्हित कर उन्हें मुख्यमंत्री आवास योजना के अंतर्गत शामिल किया। जिनके लिए 46 करोड रुपए की लागत से पट्टी आवासों का निर्माण किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: महराजगंज: छात्रावास की बिजली कटने पर छात्रों ने सड़क पर लगाया जाम

वहीं देश के संविधान निर्माता बाबा साहब भीमराव अंबेडकर का सही नाम लिखे जाने, इलाहाबाद और फैजाबाद का नाम बदले जाने को लेकर भी उन्होंने राजभवन की बड़ी उपलब्धि करार दिया। उन्होंने कहा कि 2019 का कुंभ इलाहाबाद में न होकर प्रयागराज में हुआ। ऐसा लगभग 400 सालों बाद हुआ। यह राजभवन की एक बड़ी उपलब्धि है। राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि अपने 5 साल के कार्यकाल में उन्होंने अब तक केवल 22 दिन का अवकाश लिया है जिसमें 3 दिन वे डॉक्टरों की सलाह पर इलाज कराने के लिए छुट्टी पर थे।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार