DN Exclusive: शादी के झांसे में मुंबई पहुंची लड़कियों को नहीं मिला इंसाफ, पुलिस के रवैये पर उठे सवाल

डीएन ब्यूरो

महराजगंज जिले के कोल्हुई थाना क्षेत्र के बेलासपुर गांव से कुछ समय पहले दो लड़कों ने गांव की ही दो नाबालिग लड़कियों को शादी का झांसा देकर मुंबई भेज दिया था। जहां से किसी तरह बच कर अपने परिवार वालों के पास लड़कियां पहुंची लेकिन आज भी इन लड़कियों और उनके परिवार वालों को इंसाफ नहीं मिल पा रहा है। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर..


महराजगंज: कोल्हुई थाना क्षेत्र के बेलासपुर गांव से 30 मार्च को गाँव के ही दो लड़कों यासीन और नदीम और तीसरा किसी अन्य गांव का है जो अपने ही गांव की दो नाबालिग बच्चियों को अगवा कर और शादी का लालच देकर उन्हें मुम्बई भेज दिया था। जहां ढाई महीने रहने के बाद किसी तरह वो दोनों लड़कियां भाग कर अपने परिवार वालों के पास पहुंची। इस मामले में लड़कियों के परिवार वालों की तहरीर पर कोल्हुई पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार कर लिया है। न्याय के लिए लड़की के परिजन एसपी के पास चार बार आ चुके थे। एसपी रोहित सिंह सजवान ने मामला संज्ञान में लिया और कोल्हुई पुलिस को फटकार लगाई। इतना होने के बाद भी आज तक ये नाबालिग लड़कियां इंसाफ के लिए दर-दर भटक रही हैं।

DN Exclusive: नाबालिग़ लड़कियों को बेचा मुंबई, किसी तरह बचकर पहुँची एसपी के पास

वहीं लड़कियों ने डाइनामाइट न्यूज़ को बताया कि पुलिस ने कुछ आरोपियों का नाम दबाव में हटा दिया है। लगभग 20 बार लड़कियों के परिजन पुलिस के पास जा चुके हैं, लेकिन वहां जाने के बाद कोल्हुई पुलिस केवल हवा में तीर चला रही है। 

यह भी पढ़ें: महराजगंज: नेशनल हाइवे Vs बाई-पास, कुछ सुलगते सवाल..

जब लड़कियों के परिजनों ने कोल्हुई पुलिस से मेडिकल जांच कराने की बात की तो पहले तो पुलिस ने इसमें आनाकानी की, लेकिन जब किसी तरह परिजन अस्पताल पहुंचे तो डॉक्टरों ने कहा कि अगर वे ये जांच करवाती हैं तो कभी मां नहीं बन पाएंगी। पुलिस और डॉक्टरों के इस शतरंजी खेल से हार कर परिजनों ने अपनी आप बीती डाइनामाइट न्यूज़ को सुनायी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार