फतेहपुर: पिंकी हत्याकांड का एसपी ने किया खुलासा, बहन की शादी और पैसों के लालच में की थी हत्या

डीएन संवाददाता

एसपी राहुल राज ने एक पत्रकार वार्ता में बताया कि किशनपुर क्षेत्र में नव विवाहिता पिंकी की हत्या में फरार चल रहे दूसरे आरोपी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मृतका की जेठानी रामदुलारी ने अपने प्रेमी को पैसों का लालच देकर इस हत्या को अंजाम दिया था। डाइनामाइट न्यूज़ की स्पेशल रिपोर्ट

हत्याकांड का खुलासा करते एसपी राहुल राज और गिरप्तार हत्यारोपी
हत्याकांड का खुलासा करते एसपी राहुल राज और गिरप्तार हत्यारोपी

फतेहपुर: थाना किशनपुर क्षेत्र में ग्राम अर्जुनपुर रेवाड़ी निवासी 18 वर्षीय विवाहिता पिंकी की हत्या में फरार चल रहे आरोपी रमेश निषाद उर्फ बिल्लू को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। यह इस हत्याकांड में दूसरी गिरफ्तारी है। पुलिस इस हत्याकांड की मुख्य सूत्रधार मृतका की जैठानी रामदुलारी पत्नी बलवीर को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। रमेश निषाद ने पैसों के लिये और रामदुलारी ने देवर से अपनी बहन की शादी के लिये इस हत्या को अंजाम दिया था। 

यह भी पढ़ें: फतेहपुर: पुलिस ने सुलझाया विवाहिता के शव का मामला, जेठानी ने कर डाली थी हत्या 

हत्या का खुलासा करते एसपी राहुल राज 

 

इस हत्याकांड का खुलासा करते हुए एसपी राहुल राज ने कहा कि गिरफ्तार मृतका की जेठानी रामदुलारी ने अपने प्रेमी रमेश निषाद उर्फ बिल्लू को इस हत्या के लिये पैसों का लालच दिया था। शनिवार को गिरफ्तार किया गया रमेश निषाद भी रामदुलारी के गांव का रहने वाला है। राम निषाद रामदुलारी का प्रेमी था।

पुलिस के मुताबिक रामदुलारी अपने देवर रामदीन की शादी संपत्ति के लालच में आ गयी थी और देवर रामदीन से अपनी छोटी बहन शिव दुलारी की शादी कराना चाहती थी। इसलिये उसने पिंकी की हत्या की साजिश रची। 

रामदुलारी ने पिंकी की हत्या के लिये अपने गांव के प्रेमी रमेश निषाद को पैसों का लालच दिया। 27 अगस्त की शाम वह पिंकी को शौच के लिये गांव के लगभग आधा किलोमीटर दूर लेकर गयी। जहां पिकी का मुंह और गला दबाकर हत्या कर दी गयी। आरोपी रमेश निषाद फरार हो गया। शनिवार को स्वॉट टीम व सर्विलांस सेल के साथ किशनपुर थानाध्यक्ष ने रमेश निषाद को फथरी जंगल मंदिक के पास व पहाड़पुर तिराहे के पास के गिरफ्तार किया। 

आरोपी को गिरफ्तार करने वालों में स्वॉट टीम प्रभारी अमित पांडेय,  सर्विलांस से प्रभारी सुरेश सिंह, उ.नि. परवेज अहमद समेत पुलिस टीम के अन्य सदस्य मौजूद रहे।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार