दीवाली का शुभ योग क्या है जानिये प्रख्यात ज्योतिषाचार्य डा. शंकर चरण त्रिपाठी से

डीएन ब्यूरो

हर कोई चाहता है कि धनतेरस व दीवाली पर उसके घर मां लक्ष्मी की कृपा हो लेकिन यह कैसे संभव है किस मुहुर्त में पूजा की जाय, इस पर लखनऊ निवासी देश के जाने-माने ज्योतिष शास्त्र के ज्ञाता डा. शंकर चरण त्रिपाठी से डाइनामाइट न्यूज़ ने विशेष बातचीत की।


लखनऊ: देश के जाने माने ज्योतिषाचार्य डा. शंकर चरण त्रिपाठी ने डाइनामाइट न्यूज से विशेष बातचीत करते हुये कहा है कि धनतेरस को धरती के भगवान माने जाने वाले डाक्टरों का सम्मान करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सर्वोत्तम धन निरोगी शरीर है, इसकी देखभाल बेहद आवश्यक है इसलिए आज के दिन डाक्टरों का विशेष सम्मान किया जाना चाहिये। डाक्टर आज के दिन के भगवान हैं इनकी पूजा होनी चाहिये। 

यह भी पढ़ेंः हरियाणा और महाराष्ट्र चुनावों पर ज्योतिषाचार्य डा. शंकर चरण त्रिपाठी की भविष्यवाणी हुई सच 

दीवाली के बारे में बोलते हुए डा. त्रिपाठी ने कहा कि इस बार दिवाली चित्रा नक्षत्र में पड़ रही है। जो शुभ फल देने वाला है ऐसे में इस बार की दीवाली सुख और समृद्धि देने वाली होगी। 

दीवाली पूजन के शुभ मुहूर्त की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि सांय काल को 6.59 से 7.11 बजे तक और रात 9.11 बजे से 11.17 बजे तक इसके अलावा मध्य रात्रि को 12.11 बजे से 1.11 बजे तक का काल तीन भागों में विभक्त है। 

सायं काल पूर्व जन्म कृत्य पापों के शमन और अपने पूर्वजों के आशीर्वाद को प्राप्त करने का काल खंड है। 9.11 बजे से 11.17 बजे तक का काल लक्ष्मी जागरण और संकल्प का है। मध्य रात्रि का मुहुर्त मंत्रों के जागरण का है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार