UP: पूर्व BJP सांसद चिन्मयानंद मामले में यूपी सरकार को SIT जांच के निर्देश

डीएन ब्यूरो

पूर्व BJP सांसद स्वामी चिन्मयानंद मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई की गई है। सुनवाई के तहत सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार को स्पेशल टास्क फोर्स (SIT) गठित करने का निर्देश दिया है। साथ ही लड़की के घरवालों को सुरक्षा देने के लिए भी कहा है। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर..

पूर्व BJP सांसद चिन्मयानंद
पूर्व BJP सांसद चिन्मयानंद

नई दिल्ली: पूर्व BJP सांसद स्वामी चिन्मयानंद मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के तहत उत्तर प्रदेश सरकार को स्पेशल टास्क फोर्स (SIT) गठित करने का निर्देश दिया है। साथ ही लड़की के घरवालों को सुरक्षा देने के लिए भी कहा है। साथ ही  सर्वोच्च न्यायालय ने कहा है कि यह जांच आईजी रैंक के अधिकारी करेंगे।

यह भी पढ़ें: डाइनामाइट न्यूज़ यूपीएससी कॉन्क्लेव में दिखी महिला सशक्तिकरण की झलक, पहुंची तीन वर्षों की महिला टॉपर्स, राष्ट्रपति के सचिव रहे मुख्य अतिथि

यह मामला भाजपा नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ यौन उत्पीड़न का है। एक विधि छात्रा ने स्वामी के खिलाफ यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। 

न्यायमूर्ति आर भानुमति और न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना की पीठ ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय से सम्पूर्ण जांच की निगरानी के लिए कहा। न्यायालय ने पीड़ित छात्रा को सुरक्षा मुहैया कराने का राज्य सरकार को आदेश भी दिया।

शीर्ष अदालत ने साफ किया कि अपनी तरफ से आरोपों को लेकर वह कोई राय व्यक्त नहीं कर रहा। पीठ ने कहा कि विशेष जांच दल लड़की के घरवालों की ओर से दर्ज प्राथमिकी और लड़की पर उगाही को लेकर दर्ज प्राथमिकी दोनों की जांच करेगी। 

यह भी पढ़ें: राष्ट्रपति के सचिव संजय कोठारी ने कहा- आईएएस की परीक्षा में विषयों का सही चयन बेहद जरुरी

न्यायालय ने राज्य सरकार को यह भी आदेश दिया कि वह लड़की को एलएलएम की पढ़ाई पूरी करने के लिए दूसरे कॉलेज में शिफ्ट करे।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार