बिहार में एईएस से 108 की मौत, अस्‍पताल पहुंचे केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री पर फूटा परिजनों का गुस्‍सा

डीएन ब्यूरो

भीषण गर्मी के बीच बिहार में फैले दिमागी बुखार से अब तक 108 बच्चों की मौत हो चुकी है। आज केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री लोगों की सुध लेने मुजफ्फरपुर पहुंचे जहां उनका सामना आक्रोशित परिजनों से हुआ। एक गुस्‍साए युवक ने वार्ड में उनके सामने अर्धनग्‍न होकर प्रदर्शन किया। इसके बाद जनाक्रोश तब और भड़क गया जब स्‍वास्‍थ्‍य राज्‍य मंत्री अश्विनी चौबे एक मरीज की परिजन की गुहार की अनदेखी करते हुए दूसरे वार्ड में जाने लगे। पढ़े डाइनामाइट न्‍यूज की विशेष खबर...

मरीजों का हालचाल जानने पहुंचे केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और राज्‍य मंत्री अश्‍व‍िनी चौबे
मरीजों का हालचाल जानने पहुंचे केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और राज्‍य मंत्री अश्‍व‍िनी चौबे

पटना: बिहार में एईएस (एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम) से अब तक 108 लोगों की मौत हो चुकी है। रविवार को मुजफ्फरपुर के श्रीकृष्‍ण मेडिकल कॉलेज व अस्‍पताल (एसकेएमसीएच) में एईएस के इलाज की व्‍यवस्‍था का जायजा लेने के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन और  केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य राज्‍यमंत्री अश्विनी चौबे पहुंचे।

यह भी पढ़ें: मुजफ्फरपुर में 80 से ज्यादा बच्चों की मौत पर स्वास्थ्य मंत्री के शर्मनाक बोल- 'इसके लिए सरकार जिम्मेदार नहीं'

इस दौरान लोगों ने केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को काले झंडे दिखाए और वहीं उनके सामने जमकर हंगामा किया। पटना, मुजफ्फरपुर में उन्‍हें पप्‍पू यादव की जन अधिकार पार्टी के कार्यकर्ताओं ने काले झंडे दिखाए। 

वहीं मरीजों से हाल चाल लेने के दौरान ही डॉ. हर्षवर्धन के समाने एसकेएमसीएच में पांच साल की दो बच्चियों मुन्‍नी व निशा की मौत हो गई। लोगों का कहना था कि यह समस्‍या सालों से चली आ रही है लेकिन आज तक इसका कोई स्‍थाई समाधान क्‍यों नहीं खोजा गया। 

यह भी पढ़ें: 24 घंटे में गर्मी व लू के कहर से बिहार में 66 की मौत, 100 से अधिक का इलाज जारी

वहीं उनके साथ आए राज्‍यमंत्री अश्विनी चौबे जब वार्ड में ही लोगों से मिल रहे थे उसी दौरान एक मरीज के परिजनों से उसके बीमार को भी देखने की गुहार लगाई लेकिन वह अनसुनी करके आए बढ़ गए। इस पर वार्ड के ही एक युवक ने उनके सामने अर्धनग्‍न होकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। जिससे वहां और अधिक गहमागहमी का माहौल हो गया। 

जबकि इससे पहले भी बिहार के मंत्री सुरेश शर्मा का एक बेहद ही शर्मनाक बयान आया था।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार