बिहार: AK-47 व हैंड ग्रेनेड मिलने पर MLA अनंत सिंह हो सकते हैं आतंकी घोषि‍त

डीएन ब्यूरो

बिहार के मोकामा से बाहुबली विधायक अनंत सिंह के घर पर एनआईए की छापेमारी में एके-47 और हैंड ग्रेनेड भी बरामद किया। पुलिस ने UAPA (आतंकी गतिविधियों में संलिप्‍त होने) और विस्‍फोटक रखने की धाराओं में मामला दर्ज किया है। डाइनामाइट न्‍यूज़ पर पढ़ें पूरी खबर..

बांये विधायक अनंत सिंह व दांये छापेमारी के दौरान मिली एके 47
बांये विधायक अनंत सिंह व दांये छापेमारी के दौरान मिली एके 47

पटना: बिहार के मोकामा क्षेत्र से निर्दलीय विधायक अनंत सिंह के घर पर NIA ने छापेमारी की। इस छापेमारी के दौरान एक एके-47 राइफल और हैंड ग्रेनेड बरामद किया है। इसलिए उनके खिलाफ आर्म्स एक्ट, गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) अधिनियम और विस्फोटक अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। मोकामा के डॉन अनंत सिंह को आतंकी भी घोषित किया जा सकता है ऐसी चर्चाएं सामने आ रही हैं। पुलिस ने कोर्ट से वारंट जारी करने का अनुरोध किया है। 

मोकामा में डॉन का रुतबा रखने वाले बाहुबली विधायक अनंत सिंह की मुश्किलें बढ़ गई हैं। पुलिस ने छापेमारी के दौरान एक एके-47 राइफल और हैंड ग्रेनेड बरामद किया है। जिसके बाद पुलिस ने UAPA और विस्‍फोटक रखने संबंधी धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। साथ ही विधायक अनंत सिंह की गिरफ्तारी के लिए कोर्ट से वारंट जारी करने का अनुरोध किया है। इसके अलावा कई अन्‍य मामले भी दर्ज किए गए हैं।

छापेमारी के दौरान तैनात पुलिसकर्मी

UAPA में नहीं मिलती है अग्रिम जमानत

UAPA के तहत मामला दर्ज करने के बाद विधायक अनंत सिंह ने को अग्रिम जमानत नहीं मिलेगी। दरअसरल 1967 के इस कानून में हाल ही में हुए संशोधन के बाद आतंकवादी गतिविधियों में संलिप्त होने की आशंका के आधार पर संगठन के अलावा किसी अकेले व्यक्ति को भी आतंकी घोषित किया जा सकता है और इसकी जांच इंस्पेक्टर स्तर का अधिकारी भी कर सकता है।

ऊपर छापेमारी के दौरान मिली एके 47 और नीचे मौके पर मौजूद पुलिस

ललन सिंह पर फंसाने का लगाया आरोप

पटना में अनंत सिंह ने आनन-फानन में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस किया और मुंगेर से जदयू सांसद ललन सिंह पर उन्हें फंसाने का आरोप लगाया है। अनंत सिंह ने कहा कि कोर्ट ने उनके संपत्ति की कुर्की जब्ती का आदेश नहीं किया है उसके बावजूद भी पुलिस ने छापेमारी के दौरान उनके घर पर तोड़फोड़ की है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार