बलरामपुर: नोडल अधिकारी ने किया कई विभागों का औचक निरीक्षण, अधिकारियों को फटकार

डीएन संवाददाता

जिले में नोडल अधिकारी संध्या तिवारी ने दो दिवसीय भ्रमण कर सभी विभागों का निरीक्षण किया। इस दौरान विभिन्न विभागों में मिली कमी और गंदगी को लेकर उन्होंने अधिकारियों को जमकर फटकार भी लगाई। पूरी खबर..

पुलिस अधिकारी से जानकारी लेती नोडल अधिकारी
पुलिस अधिकारी से जानकारी लेती नोडल अधिकारी

बलरामपुर: जिले में नोडल अधिकारी संध्या तिवारी ने दो दिवसीय भ्रमण कर विकास की सच्चाई को जाना और कई सरकारी योजनाओं का जायजा लिया। जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय के निरीक्षण के दौरान वहां गंदगी मिलने पर उन्होंने अधिकारियों व कर्मचारियों को जमकर फटकार भी लगायी और तत्काल व्यवस्थाएं चुस्त दुरूस्त करने की बात कही।

उन्होंने डीआईओएस कार्यालय, नगर कोतवाली, महिला चिकित्सालय सहित देवी पाटन गांव में चैपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनी और निस्तारण के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया।

 

महिला चिकित्सालय में मरीजों का जाना हाल

संध्या तिवारी उत्तर प्रदेश शासन की माध्यमिक शिक्षा सचिव है। भ्रमण के दौरान उन्होंने जिला महिला चिकित्सालय के निरीक्षण के दौरान प्रसूता महिलाओं का हाल जाना। निरीक्षण के दौरान साफ-सफाई व्यवस्था न मिलने पर उन्होंने प्रभारी मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया कि अस्पताल की साफ-सफाई प्रतिदिन सुनिश्चित करवाई जाए। इस दौरान उन्होंने बेबी केयर यूनिट, आईसीयू वार्ड, लेबर वार्ड, प्राइवेट वार्ड का निरीक्षण किया। उन्होंने निर्देशित किया प्रसूता महिलाओं को समय से दवाइयां, फल, दूध, भोजन और शासन से मिलने वाली सभी योजनाओं का लाभ दिलवाया जाए।

 

कोतवाली नगर का किया औचक निरीक्षण 

संध्या तिवारी ने कोतवाली नगर का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने आर्म्स रजिस्टर, परिवाद रजिस्टर व त्यौहार रजिस्टरों का निरीक्षण किया। कोतवाली नगर परिसर में खड़ी दो पहिया व चार पहिया वाहनों की नीलामी प्रक्रिया में तेजी लाने का निर्देश भी दिया।

 

 

प्राइमरी स्कूल का जाना हाल

दो दिवसीय दौरे के दौरान नोडल अधिकारी ने चकवा प्राइमरी स्कूल का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने विद्यालय में शिक्षा की गुणवत्ता परखी। उन्होंने अध्यापकों को निर्देशित किया कि नौनिहालों की शिक्षा में कोई लापरवाही न बरती जाए।

 

नोडल अधिकारी को मिला सब 'आल इज वेल'

संध्या तिवारी ने बताया कि दो दिवसीय दौरे के दौरान उन्हें सब ठीक लगा। जिले के प्रभारी मंत्री सुरेश राणा की तरह नोडल अधिकारी संध्या तिवारी का दौरा मात्र औपचारिकता ही रहा। मीडिया द्वारा पूछे गए सभी सवालों से बचते हुए उन्होंने अपना बयान दिया। जिले की बदहाल सड़कें, ध्वस्त चिकित्सा व स्वास्थ्य व्यवस्था सहित अन्य किसी समस्याओं को जाने बगैर सचिव अपना दौरा समाप्त कर लखनऊ वापस लौट गई।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार