अयोध्या मामला: मध्‍यस्‍थता पैनल द्वारा समाधान न खोज पाने की स्थिति में 25 जुलाई से सुनवाई शुरू

डीएन ब्यूरो

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को अयोध्या मामले में मध्यस्थता कर रहे पैनल से 18 जुलाई तक मध्यस्थता प्रक्रिया पर स्टेटस रिपोर्ट पेश करने को कहा। मध्यस्थता पैनल अयोध्या मामले को सुलझाने में असमर्थता व्यक्त करता है, तो वह 25 जुलाई को सुनवाई शुरू करेगी। डाइनामाइट न्‍यूज़ पर पढ़ें पूरी खबर..

फाइल फोटो
फाइल फोटो

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को अयोध्या मामले में मध्यस्थता कर रहे पैनल से 18 जुलाई तक मध्यस्थता प्रक्रिया पर स्टेटस रिपोर्ट पेश करने को कहा।

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने कहा कि अगर सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश (सेवानिवृत्त) एफएमआई खलीफुल्ला की अध्यक्षता वाला मध्यस्थता पैनल अयोध्या मामले को सुलझाने में असमर्थता व्यक्त करता है, तो वह 25 जुलाई को सुनवाई शुरू करेगी।

गौरतलब है कि जस्टिस खलीफुल्लाह की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय आर्बिट्रेशन पैनल को एक आम समाधान खोजने का काम सौंपा गया है। समिति में धार्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर और वरिष्ठ अधिवक्ता श्रीराम पंचू, मध्यस्थ विशेषज्ञ शामिल हैं।

हिंदू पक्ष का कहना है कि मध्यस्थता प्रक्रिया में कोई प्रगति दर्ज नहीं की गई है और इसे बंद करने की अपील की गई है। वहीं अल्पसंख्यक समुदाय का कहना है कि मध्यस्थता प्रक्रिया में अच्छी प्रगति हुई है। (वार्ता )

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार