गोरखपुर में अखिलेश यादव का सीएम योगी आदित्‍यनाथ पर तंज, 'अगर संविधान ना होता तो बाबा जी मठ में घंटा बजा रहे होते'

डीएन ब्यूरो

गोरखपुर की जनसभा में अखिलेश यादव ने भरोसा जताते हुए कहा कि इस बार देश को गैर-बीजेपी और गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री मिलेगा। क्षेत्रीय दलों ने देश को कई प्रधानमंत्री दिए हैं। उनका मानना है कि गैर-बीजेपी और गैर-कांग्रेसी फ्रंट बड़ा होगा। ऐसे कई गैर-बीजेपी, गैर-कांग्रेसी दल हैं जो जीत रहे हैं। केसीआर, नायडू सभी गैर-बीजेपी और गैर-कांग्रेसी सरकार की कोशिश कर रहे हैं।

गोरखपुर में जनसभा को संबोधित करने से पहले लोगों का अभिवादन करते गठबंधन नेता
गोरखपुर में जनसभा को संबोधित करने से पहले लोगों का अभिवादन करते गठबंधन नेता

गोरखपुर: सातवें चुनावी रण के लिए आज समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने गोरखपुर से भाजपा पर जोरदार हमला बोला। उन्‍होंने कहा अब चाय वाले के दिन जाने वाले हैं और अच्‍छे दिन आने वाले हैं। इस दौरान उन्‍होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ पर पूरी तरह से आक्रामक रुख के साथ हमलावर रहे। मोदी के रडार वाले और बाबा के संविधान वाले बयान पर भी चुटकी ली जिससे जनता गदगद हो गई। यह है उनके भाषण की प्रमुख बातें।

गोरखपुर में सपा-बसपा की जनसभा के दौरान उत्‍साहित युवा

ये भी पढ़ें: स्‍वच्‍छता अभियान चलाने वालों को यूपी की जनता करेगी साफ, नहीं खुलेगा खाता.. गोरखपुर में भाजपा पर बरसे सपा प्रमुख अखिलेश यादव

  • इस बार गठबंधन की आंधी में कोई बचने वाला नहीं है। पिछले चुनाव में मायावती जी ने सिर्फ समर्थन दिया था। इस बार गठबंधन है। बताओ साथियों कितने वोटों से जीतने जा रहे हैं।
  • योगी आदित्‍यनाथ पर तंज कसते हुए अखिलेश यादव ने कहा, यहां से उठी आवाज मठ तक चली गई होगी..। इस आवाज को सुनकर उन्हें समझ में नहीं आ रहा है कि वो कहां जाएं मुंह छिपाने।
  • 5 साल का नहीं 7 साल का हिसाब है। बताओ गरीब की कितनी आय दोगुनी हो गई। हमारे किसान भाई धूप में पसीना बहाते हैं बताओ कितने किसानों की आय दोगुनी हो गई..।
  • भाजपाा वालों ने नौजवानों को सपना दिखाया कि नौकरी मिल जाएगी। लेकिन नौजवान आज घर में बैठा है। महंगाई बढ़ गई, पेट्रोल डीजल महंगा हो रहा है। माताओं बहनों को मिला सिलेंडर वो दोबारा नहीं भरा पा रही हैं।

यह भी पढ़ें: निरहुआ जैसे लोगों का बहिष्कार करे व्यापारी व वैश्य समाज: पैदल जनसंपर्क अभियान में पूर्व मंत्री सुशील टिबड़ेवाल की अपील

  • इलाज  के लिए जो दवाई मिलती थी उसे बर्बाद कर दिया। जो समाजवादी पेंशन मिल रही थी माताओं को वो भी बंद कर दी। अस्पताल में ऑक्सीजन से मरने वाले बच्चों की दोषी है सरकार..। जिसे सरकार ने फंसाया था उसे सुप्रीम कोर्ट ने इज्जत बख्श दी।
  • पुलिस को 100 नंबर दिया पुलिस हमारी मदद करेगी लेकिन बाबा मुख्यमंत्री ने 100 नंबर को खत्म कर दिया। जो बीमारी थानों में थी उसे 100 नंबर में भी लगा दिया।
जनसभा में पहुंचे लोगों का अभिवादन करते अखिलेश यादव और आपस में बातचीत करते अजित सिंह व मायावती
  • ये चाय वाला बन कर आए थे.. लेकिन 5 साल में अब पता चल गया है कि चाय का स्वाद कैसा है? चौकीदार कैसा है ये सब जान गए? लेकिन चौकीदार को अकेले हटाने से काम नहीं चलेगा ठोकीदार को भी हटाना है।

यह भी पढ़ें: अखिलेश यादव को भारी मतों से जीताने के लिये पूर्व मंत्री सुशील टिबड़ेवाल ने झोंकी ताकत

  • हमें नहीं पता कि यहां कितनी मौते सांड से हुई हैं.. लेकिन राजधानी में कई लोग सांड के हमले से रोड पर मर चुके है। पत्रकार साथियों से पूछना चाहते है कि साडों के हमले से हुई मौतों के खिलाफ किस पर एफआईआर दर्ज कराए?
  • अब तो जनता भी जान गई है कि 6 चरणों के बाद गठबंधन का मुकाबला कोई नहीं कर सकता है। उन्हें पचा चल गया है कि गठबंधन का मुकाबला कोई नहीं कर सकता था। ये सबक सीखने के बाद भी नहीं सुधरे। सोचिए कैसा दिमाग है क्या सोचते है ये कि संविधान ना होता तो हम गोबर उठा रहे होते।
अखिलेश जिंदाबाद अपने शरीर पर लिखकर पहुंचा एक उत्‍साहित युवक
  • कोई छोटी मोटी दुकान चला रहा होगा, कोई पाल, निषाद, मौर्या, प्रजापति, समाज का होगा सोचे उसके लिए क्या सोचते होंगे। अगर संविधान ना होता तो बाबा जी मठ में घंटा बजा रहे होते। संविधान से कुछ अधिकार मिले थे शिक्षा और नौकरी मिल जाती थी। ये उसके खिलाफ भी साजिश और षणयंत्र कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: छठे चरण में पूर्वी उप्र की 14 सीटों पर अखिलेश, मेनका, रीता समेत कई दिग्गजों की प्रतिष्ठा दाव पर

 

  • इस लिए हम आपसे कहना चाहते है कि हम आपके हकों को बचाना चाहते है।  हमने इनके फैसले देखे हैं। आज ये नोटबंदी, जीएसटी के बारे में नहीं बता सकते। ये नए भारत की बात कर रहे है गठबंधन नया प्रधानमंत्री बनाने की बात कर रहा है जिससे नया मजबूत देश बने।
  • ये कहते हैं कि आतंकवाद खत्म हो जाएगा। बताओ कितना आतंकवाद खत्म कर दिया इन्होंने? धोखा दे रहे हैं ये आतंकवाद के नाम पर। हम ये कह रहे है कि देश को आगे बहुत आगे लेकर जाना है। नए अस्पताल, शिक्षा व्यवस्था मजबूत कर देश को आगे बढ़ाना चाहते है।
जनसभा में एक युवक समाजवादी पार्टी का चुनाव चिह्न साइकिल लेकर पहुंचा 
  • अगर 6 चरणों में सफाया कर दिया तो ये 7 वां चरण है बताओ मदद करोगे कि नहीं करोगे? यहां से हमारे रामभुअल निषाद लड़ रहे हैं बताओ उन्हें जिताओगे कि नहीं? हमारे पहले वाले प्रत्याशी को ना जाने कौन सा प्रसाद मिल गया छोड़ कर चले गए मठ। वो कहते थे कि आरक्षण को खतरा है आरएसएस से अब वो खुद ही मठ पहुंच गए बताओ अब कैसे आरक्षण बचाओगे? वो कहते थे कि मठ उनका है लेकिन अब मठ में पहुंच गए बाबा जी के प्रसाद लेने के लिए।  इस लिए ये चुनाव झूठ बोलने वालों को धोखा देने वालों को सबक सिखाने का चुनाव है।

यह भी पढ़ें: कुशीनगर में अखिलेश यादव के निशाने पर रहे पीएम नरेंद्र मोदी व सीएम योगी आदित्यनाथ, बोले- खराब निकली चाय, नशा भी उतर गया

  • भाजपा और कांग्रेस में कोई फर्क नहीं है जो भाजपा है वही कांग्रेस है जो कांग्रेस है वही भाजपा है। इस लिए किसी भी तरह के संदेह में मत रहना। गोरखपुर मंडल की सभी सीटों पर गठबंधन के प्रत्याशी को जिता देना ।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …