उपराष्ट्रपति ने लोहड़ी की शुभकामनाएं दीं, दिनकर की कविता का किया उल्लेख

डीएन ब्यूरो

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने देशवासियों को लोहड़ी और मकर संक्रान्ति की सोमवार दो शुभकामनाएं दीं।

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू
उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू

नई दिल्ली: उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने देशवासियों को लोहड़ी और मकर संक्रान्ति की सोमवार दो शुभकामनाएं दीं।

यह भी पढ़ें: वेंकैया ने किया हिंदी को सरल और सुगम्य बनाने का आग्रह

नायडू ने ट्वीट किया, ‘‘लोहड़ी की पवित्र अग्नि हमारे जीवन में, परिवार में और समुदाय और राष्ट्रीय जीवन में प्रकाश और हमारे हृदयों में आत्मीयता की ऊष्मा लाए।’’

उल्लेखनीय है कि लोहड़ी उत्तर भारत का प्रमुख लोकप्रिय पर्व है। यह मकर संक्रान्ति के एक दिन पहले मनाया जाता है। नायडू ने हिंदी के महान कवि रामधारी सिंह दिनकर की एक कविता का उल्लेख करते हुए कहा, ‘‘ ‘जय हो जग में जले जहां भी, नमन पुनीत अनल को, जिस नर में भी बसे, हमारा नमन तेज को, बल को' राष्ट्रकवि दिनकर की इन्हीं पंक्तियों के साथ, सभी देशवासियों को लोहड़ी की हार्दिक शुभकामनाएं।’’(भाषा)

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार