UP: गर मुंह से गोली नहीं चलाता दरोगा तो बदमाशों की 'ठांय-ठांय' ले लेती जान

डीएन ब्यूरो

संभल में गन्ने के खेत में पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ में दरोगा की पिस्तौल अटकने पर मुंह से 'ठांय-ठांय' की आवाज निकालने को लेकर जहां पुलिस अधिकारी इसे पुलिसिया रणनीति का एक हिस्सा बता रहे हैं। पढ़िये डाइनामाइट न्यूज़ की इस रिपोर्ट में गर मुंह से भी नहीं निकलती ठांय-ठांय फिर क्या करती पुलिस

मुंह से ठांय-ठांय पर सफाई देती पुलिस
मुंह से ठांय-ठांय पर सफाई देती पुलिस

संभलः सोशल मीडिया पर यूपी पुलिस के मुंह से ठांय-ठांय की आवाज निकालने वाले वीडियो के तहलका मचाने और यूपी पुलिस की लचर कानून व्यवस्था का माखौल उड़ने पर जिले के पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने सफाई दी है। इस पूरे घटनाक्रम में संभल जनपद के असमोली थाना क्षेत्र में शुक्रवार की रात को बदमाशों का एनकाउंटर करने के लिए गन्ने के खेत में घुसी पुलिस की जब बदमाशों से मुठभेड़ हुई तो तब पुलिस की सरकारी पिस्तौल धोखा दे गई।     

यह भी पढ़ेंः एनकाउंटर के दौरान रिवॉल्वर ने दिया धोखा तो UP पुलिस ने मुंह से चलाई 'गोली'

 

बदमाशों से मुठभेड़ के दौरान पुलिस टीम

 

वह तो भला हुआ कि दरोगा के बगल में दूसरे सिपाही मुंह से ठांय-ठांय की आवाज निकालकर 25 हजार के इनामी बदमाश मुदित शर्मा को गिरफ्तार करने में कामयाब हो पाई नहीं तो यह शातिर पुलिस की ही ठांय-ठांय कर देता।   

यूपी में थानेदार ने जारी किया ‘फतवा’.. गर्म हुआ चर्चाओं का बाजार

मजाक बनकर रह गई यूपी पुलिस की सफाई में है कितनी सच्चाई

1. सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुए इस वीडियो के बाद यूपी के आला पुलिस अधिकारियों को मीडिया के सामने जवाब देना भारी पड़ रहा है।

2. बदमाश से मुठभेड़ में गनीमत रही कि बदमाश की गोली की गोली का शिकार कोई पुलिस वाला नहीं बना और पुलिस ने जैसे-तैसे  शातिर इनामी बदमाश को घायल कर उसे गिरफ्तार कर लिया।      

यह भी पढ़ेंः यूपी के अलीगढ़ में छुपा है बड़ा तेल भंडार.. ONGC ने शुरू की खोज

 

 

मुंह से ठांय-ठांय की आवाज निकालता पुलिसकर्मी

 

3.पुलिस की गोली अगर सही समय पर चल जाती है इस इनामी बदमाश के साथ इसका दूसरा साथी भी शायद पुलिस के हाथ लग जाता। लेकिन पिस्तौल के धोखा देने के बाद यह संभव नहीं हो पाया।    

यह भी पढ़ेंः ..तो क्या गुरुग्राम में जज की पत्नी और बेटे को गनर ने इसलिये मारी थी गोली?

  

मुठभेड़ के दौरान पुलिस बल

4. अब पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने मामले में सफाई दी है कि दरोगा की पिस्तौल जाम नहीं हुई थी। यह वहां मौजूद पुलिसकर्मी द्वारा बदमाशों पर दबाव बनाने का एक तरीका था। जबकि वीडियो में साफ दिख रहा है कि वहां बदमाशों से मुठभेड़ में दूसरे सिपाही एके-47 से फायरिंग कर रहे थे।  

5. मुंह से 'ठांय-ठांय' की आवाज निकालने वाले पुलिसकर्मी के खिलाफ फिलहाल अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। वहीं इस पूरे घटनाक्रम में एसपी यमुना प्रसाद जिले के पुलिसकर्मियों को शस्त्र प्रशिक्षण पर भेजने की बात कहर मामले पर मिट्टी डालने की कोशिश कर रहे हैं।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …